ग्रामीण क्षेत्रों में मुस्लिमों में बेरोजगारी दर हुई कम: सरकार का दावा

  • ग्रामीण क्षेत्रों में मुस्लिमों में बेरोजगारी दर हुई कम: सरकार का दावा
You Are HereNational
Thursday, December 12, 2013-4:22 PM

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने आज दावा किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में अल्पसंख्यकों, विशेषकर मुस्लिमों के बीच बेरोजगारी की दर कम हुई है। अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री निनोंग ईरींग ने लोकसभा में सदस्यों के सवालों के लिखित जवाब में यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय प्रतिदर्श सर्वेक्षण कार्यालय की भारत (2009-10) में बड़े धार्मिक समूहों के बीच रोजगार और बेरोजगारी संबंधी रिपेार्ट के अनुसार, अन्य बातों के साथ साथ यह टिप्पणी की गयी है कि अल्पसंख्यक समुदायों की बेरोजगारी दर में ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में वर्ष 2004-05 की तुलना में 2009-10 में कमी आई है।

अल्पसंख्यकों के बीच ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगारी दर मुस्लिमों के संबंध में सबसे कम थी। शहरी क्षेत्रों में बेरोजगारी दर ईसाइयों में सबसे कम थी, उसके बाद इसमें मुस्लिमों का स्थान आता है।

उन्होंने साथ ही बताया कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के लिए योजना आवंटन 11वीं पंचवर्षीय योजना में सात हजार करोड़ रूपये से बढ़ाकर 12वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान 17, 323 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You