बिहार के विकास के लिए बड़ी धन राशि की आवश्यकता :यादव

  • बिहार के विकास के लिए बड़ी धन राशि की आवश्यकता :यादव
You Are HereNational
Thursday, December 12, 2013-4:38 PM

पटना: बिहार के विधि, योजना एवं विकास मंत्री नरेन्द्र नारायण यादव ने राज्य के विकास के लिए एक बड़ी धन राशि की आवश्यकता पर बल देते हुए आज कहा कि पिछले साठ वर्षों से उचित निवेश न होने के कारण प्रदेश का पिछड़ापन बना हुआ है। यादव ने विधान परिषद में ‘राज्य में केन्द्र प्रायोजित रेल समेत कई परियोजनाओं को पूरा करने के लिए 50 हजार करोड़ रुपए के विशेष पैकेज की मांग’ पर दो घंटे तक चली विशेष वाद-विवाद का उत्तर देते हुए कहा कि पिछले आठ वर्षों में राज्य की अर्थव्यवस्था में लगातार वृद्धि हो रही है।

उन्होंने कहा कि 11 वीं पंचवर्षीय योजना में भारतीय अर्थव्यवस्था की औसत विकास दर 8.03 प्रतिशत की तुलना में बिहार का औसत विकास दर स्थित मूल्य 9.86 प्रतिशत रहा है। योजना एवं विकास मंत्री ने कहा कि देश में प्रति व्यक्ति आय 6.27 प्रतिशत के वृद्धि दर की तुलना में राज्य की प्रतिव्यक्ति आय में वृद्धि दर स्थिर मूल्य पर 8.28 प्रतिशत रही। वर्ष 2012-13 में राज्य का आॢथक विकास दर स्थिर मूल्य पर 14.48 प्रतिशत हो गया है। इस अवधि में देश का विकास दर 4.98 प्रतिशत रहा। उन्होंने कहा कि इतनी अधिक विकास दर के बावजूद बिहार की प्रति व्यक्ति आय एवं राष्ट्रीय प्रति व्यक्ति आय के बीच अंतर बढ़ता जा रहा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You