2012 गोलीकांड : ‘हरदीप एवं अन्य ने पोंटी को मारने का षड्यंत्र किया’

  • 2012 गोलीकांड : ‘हरदीप एवं अन्य ने पोंटी को मारने का षड्यंत्र किया’
You Are HereNational
Saturday, December 14, 2013-8:32 PM

नई दिल्ली: उत्तराखंड अल्पसंख्यक आयोग के प्रमुख एस. एस. नामधारी और 21 अन्य ने आज एक अदालत के समक्ष दावा किया कि शराब व्यवसायी पोंटी चड्ढा के छोटे भाई हरदीप ने दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी और कांग्रेस के एक विधायक के साथ मिलकर फार्महाउस पर कब्जा करने का षड्यंत्र रचा जहां दोनों भाइयों की हत्या कर दी गई।

पिछले वर्ष पोंटी और उनके भाई की हत्या के सिलसिले में नामधारी एवं अन्य को गिरफ्तार किया गया था। नामधारी एवं अन्य ने अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश विमल कुमार यादव के समक्ष आरोप तय करते समय कहा कि हरदीप ने हत्या करने और फार्महाउस पर कब्जा करने का षड्यंत्र रचा था। कुछ आरोपियों के वकील के.के. मनन ने कहा, ‘‘घटना से पहले 16 नवम्बर 2012 की रात दिल्ली पुलिस का एक उच्चाधिकारी (संयुक्त सीपी स्तर) और कांग्रेस का एक वरिष्ठ मंत्री पोंटी के भाई की तरफ से बुलाई गई बैठक में मौजूद थे।’’

वकील ने कहा कि पूरा षड्यंत्र उस रात रचा गया जब ये तीनों और कुछ अन्य लोग मौजूद थे। उन्होंने कहा कि हरदीप के कॉल डिटेल से पता चलता है कि वह उस मंत्री के साथ लगातार संपर्क में थे। दिल्ली पुलिस के अधिकारी भी हरदीप की हर गतिविधि से वाकिफ थे। बहरहाल वकील ने अधिकारी का नाम लिए बगैर कहा कि सुनवाई के दौरान उनके नामों का खुलासा होगा। इससे पहले पिछले वर्ष जांच के दौरान जांचकर्ताओं ने कहा था कि हरदीप के शीला दीक्षित सरकार के दो मंत्रियों के साथ निकट संबंध थे।

पुलिस सूत्रों ने कहा था कि कॉल रिकार्ड से पता चलता है कि दिल्ली के तत्कालीन शहरी विकास मंत्री अरविंदर सिंह लवली हरदीप के संपर्क में थे। वकील ने दावा किया कि फार्महाउस पोंटी के नाम से था क्योंकि बिल उनकी कम्पनी के खाते से भुगतान किए जाते थे जो उनके नाम से थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You