शिक्षा, अनुसंधान में अत्यधिक निवेश की जरूरत : प्रणब

  • शिक्षा, अनुसंधान में अत्यधिक निवेश की जरूरत : प्रणब
You Are HereNational
Saturday, December 14, 2013-11:29 PM

नई दिल्ली: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आज कहा कि देश को शिक्षा, अनुसंधान और नवाचार में अत्यधिक निवेश की जरूरत है ताकि दुनिया में आधुनिक अर्थव्यवस्था के तौर पर सही जगह हासिल की जा सके। देश के 25 प्रतिशत लोगों को सम्मानित करने के लिए आयोजित एनडीटीवी के पुरस्कार समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि भारत को आधुनिक अर्थव्यवस्था के तौर पर देशों के समूह में सही जगह प्राप्त करना चाहिए।

एनडीटीवी के 25 साल पूरे होने के मौके पर आयोजित समारोह में प्रणब ने कहा, ‘‘लेकिन अगर हम यह हासिल करना चाहते हैं तो हमें उसी समय इस तथ्य को भी पहचानना चाहिए कि शिक्षा, अनुसंधान और नवाचार में आगे बढ़े बिना हम उसे हासिल नहीं कर सकते।’’ राष्ट्रपति ने इस मौके पर नोबेल पुरस्कार विजेता अमत्र्य सेन और वी रामा कृष्णन, अमिताभ बच्चन, शाहरूख खान, रजनीकांत, वहीदा रहमान (सभी सिनेमा), सचिन तेंदुलकर, कपिल देव, लियेंडर पेस (खेल), जुबिन मेहता, ए आर रहमान और हरि प्रसाद चौरसिया (संगीत), भारत रत्न पुरस्कार विजेता सीएनआर राव, प्रसिद्ध वकील फली नरीमन, सामाजिक कार्यकर्ता इला भट्ट और अनीश कपूर (कला) समेत 25 प्रतिष्ठित हस्तियों को सम्मानित किया। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने देखा कि इन सभी में एक बात समान है कि ये सभी परिश्रम, ईमानदारी और काम के लिए प्रतिबद्धता में भरोसा करते हैं।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You