राहुल की ताजपोशी की तैयारी! 17 जनवरी को हो सकती है घोषणा

  • राहुल की ताजपोशी की तैयारी! 17 जनवरी को हो सकती है घोषणा
You Are HereNational
Monday, December 16, 2013-8:31 PM

जालंधर: (बाली) अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव की रणनीति तैयार करने के लिए कांग्रेस का 17 जनवरी को दिल्ली में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति का सम्मेलन होने जा रहा है और इससे अटकलें तेज हुई हैं कि उस दौरान राहुल गांधी को पार्टी का प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया जा सकता है।

पार्टी महासचिव जनार्दन द्विवेद्वी ने यह घोषणा की कि अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की दिल्ली में 17 जनवरी को बैठक होगी। इसकी घोषणा ऐसे समय में हुई है जब पार्टी को हाल में राजस्थान, मध्यप्रदेश, दिल्ली और छत्तीसगढ में हुए विधानसभा चुनावों में भारी पराजय का सामना करना पड़ा है। भाजपा ने जहां लोकसभा चुनाव के लिए अपने प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में नरेन्द्र मोदी के नाम की घोषणा इस साल सितम्बर में ही कर दी थी, वहीं इस बात की आलोचना हो रही थी कि कांग्रेस अपना उम्मीदवार घोषित करने से कतरा रही है।

चार राज्यों के विधानसभा चुनाव का परिणाम जिस दिन आया उसी दिन पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी ने कहा था कि पार्टी अपने प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा उपयुक्त समय पर करेगी। जनार्दन द्विवेदी ने इस सवाल को अतार्किक बताते हुए खारिज किया कि यह सम्मेलन राुहल गांधी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाने के लिए आयोजित किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि एआईसीसी की बैठक का एजेंडा कांग्रेस कार्य समिति तय करती है और वही सम्मेलन में रखे जाने वाले प्रस्तावों के मसौदों को भी अंतिम रूप देती है।

 इस बैठक में राजनीतिक हालात सहित मौजूदा स्थिति पर चर्चा होगी । एआईसीसी की पिछली बैठक चिंतन शिविर के साथ इस साल जनवरी में जयपुर में हुई थी जिसमें राहुल गांधी को पार्टी का उपाध्यक्ष घोषित किया गया था  यह बैठक ऐसे समय में बुलायी जा रही है जब कांग्रेस को नरेन्द्र मोदी के उभार और संप्रग के सिकुडऩे से उपजे हालात का सामना करना पड़ रहा है। एआईसीसी के बैठक की घोषणा ऐसे समय में की गई है जब एक ही दिन पहले द्रमुक के नेता एम करूणानिधि ने अगले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं करने का ऐलान किया है। द्रमुक ने कुछ ही महीने पहले कांग्रेस नेतृत्व वाले संप्रग गठबंधन से नाता तोड़ा था। 

संप्रग गठबंधन के दूसरे सबसे बड़े घटक तृणमूल कांग्रेस ने खुदरा क्षेत्र में विदेशी निवेश के मुद्दे पर पिछले साल ही गठबंधन को अलविदा कह दिया था । इसके अलावा बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व वाला झारखंड विकास मोर्चा और एआईएमआईएम भी संप्रग से अलग हो चुका है।  दिल्ली, राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ के विधानसभा चुनवों में मिली भारी पराजय के बाद पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इन चुनाव परिणामों पर गहरे आत्ममंथन किये जाने की बात की थी।

कांग्रेस या तो परिवार से प्रधानमंत्री बनाती है या डेपुटेशन पर: भाजपा
जालंधर: (बाली) 17 जनवरी को होने वाली कांग्रेस कि बैठक पर भाजपा के राष्ट्रिय उपाध्यक्ष मुख़्तार अब्बास नकवी ने कहा कांग्रेस अब चाहे जिसे प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर दे कांग्रेस की छवि में सुधार नहीं आ सकता।

उन्होंने कहा कांग्रेस या तो परिवार से प्रधानमंत्री बनाती है या डेपुटेशन पर उन्होंने कहा अभी तक तो यह सरकार रिमोट से चल रही थी और अब यदि राहुल पीएम बन भी जाते है तो कांग्रेस की छवि में कोई ख़ास फर्क नहीं पड़ने वाला क्यूंकि दस सालों में तो कांग्रेस ने देश की जनता के लिए कुछ किया ही नहीं इसलिए अब प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री बदलें या नहीं देश की जनता कांग्रेस की भृष्ट नीतियों को समझ चुकी है.

राहुल पर लग रहे कयास जल्दबाजी: कांग्रेस

जालंधर: (बाली) 17 जनवरी को होने वाली कांग्रेस कि बैठक पर आ रही ख़बरों का खंडन करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता मीम अफ़ज़ल ने कहा यह सब बेकार की बातें है कांग्रेस इस तरह का कोई भी बदलाव नहीं करने वाली उन्होंने कहा इस पर और अधिक कहना जल्दबाजी होगी। भाजपा के डेपुटेशन वाले ब्यान पर कांग्रेस प्रवक्ता मीम अफ़ज़ल ने कहा यह भाजपा की तुच्छ सोच है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You