देवयानी मामला: अमरीकी राजनयिकों से छीने विशेषाधिकार

  • देवयानी मामला: अमरीकी राजनयिकों से छीने विशेषाधिकार
You Are HereNational
Tuesday, December 17, 2013-10:48 PM

नई दिल्ली: अमरीकी अधिकारियों द्वारा न्यूयार्क में भारत की उप महा वाणिज्य दूत देवयानी खोबरागाड़े के साथ किए गए दुव्र्यवहार का मामला तूल पकड़ रहा है। भारत ने अमरीकी दादागिरी के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करते हुए नई दिल्ली स्थित अमरीकी दूतावास के सामने से सारे बैरीकेटों को हटा देने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही भारत ने अमरीकी दूतावास के लिए भेजे जाने वाले खाने, शराब आदि सभी चीजों की मंजूरी रोक दी है।

देवयानी की तलाशी को बर्बर कार्रवाई बताते हुए भारत ने अमरीकी राजनयिकों और उनके परिवारों के विशेषाधिकार छीन लिए हैं। स्टाफ के एयरपोर्ट पास भी वापस ले लिए हैं। अमरीकी वाणिज्य दूत में कार्यरत भारतीय स्टाफ को दिए जाने वाले वेतन का ब्यौरा भी मांगा है। सरकार ने अमरीकी वाणिज्य दूतावास के कर्मचारियों और उनके परिवारों से अपने शिनाख्त पत्र तुरंत वापस देने का आदेश दिया है।

यह अब उसी तरह उपलब्ध करवाए जाएंगे जैसे अमरीका वहां हमारे वाणिज्य दूतावास के कर्मचारियों को उपलब्ध करवाता है। सरकार ने अमरीका से कहा कि वह वीजा से संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध करवाए। अमरीकी स्कूलों में सभी अध्यापकों का ब्यौरा भी दिया जाए। इन स्कूलों में भारतीयों के बैंक खातों की जानकारी भी दी जाए।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मैनन ने देवयानी के साथ किए गए व्यवहार को निंदनीय और बर्बरतापूर्ण करार दिया। मैनन ने वीजा उल्लंघन के आरोप में देवयानी की गिरफ्तारी पर उक्त टिप्पणी की। संसदीय मामलों के मंत्री कमलनाथ ने तो कहा कि देवयानी के मुद्दे पर अमरीका माफी मांगे। विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि भारत ने अमरीका में अपने राजनयिक के साथ किए गए वर्ताव को बहुत गम्भीरता से लिया है। भारत ने एक प्रभावी ढंग से मुद्दे से निपटने की प्रक्रिया शुरू की है।

देवयानी के मुद्दे पर भारतीय नेताओं ने अमरीकी प्रशासन के प्रति कड़ा रुख अपनाया। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे, गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमरीकी प्रतिनिधिमंडल के साथ मुलाकात करने से इंकार कर दिया। भाजपा नेता जसवंत सिन्हा ने मांग की कि सरकार भारत में उन अमरीकी कर्मियों के साथ कार्रवाई करे जो समलिंगी जोड़ों के रूप में रह रहे हैं। जद (यू) सांसद के.सी. त्यागी ने कहा कि अमरीका के साथ भारत को जैसे को तैसा वाला सलूक करना चाहिए।

क्या गलत किया अमरीका ने
देवयानी को उस समय गिरफ्तार किया गया था जब वह बेटी को स्कूल छोडऩे गई थीं।
गिरफ्तारी के बाद सार्वजनिक रूप से हथकड़ी लगाई गई।
देवयानी के कपड़े उतरवा कर तलाशी ली गई। नशेडिय़ों के साथ रखा गया।
देवयानी का डी.एन.ए. सैम्पल लिया गया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You