बाबा विश्वनाथ के दर्शन कर आलोचकों का मुंह बन्द करेंगे मोदी

  • बाबा विश्वनाथ के दर्शन कर आलोचकों का मुंह बन्द करेंगे मोदी
You Are HereNational
Wednesday, December 18, 2013-11:48 AM

लखनऊ: जम्मू कश्मीर के सम्बन्ध में धारा 370 पर बहस की मांग और अयोध्या मुद्दे पर बोलने से बचने के कारण भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मूल मुद्दों से बचने के आरोपों को दरकिनार करते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी आगामी 20 दिसम्बर को वाराणसी में बाबा विश्वनाथ के दर्शन करेंगे।

मोदी की वाराणसी में 20 दिसम्बर को रैली आयोजित है। उत्तर प्रदेश में उनकी यह पांचवीं रैली है। इससे पहले कानपुर, झांसी, बहराइच और आगरा में उनकी रैलियां हो चुकी हैं। इन रैलियों में वह  पार्टी के मूल मुद्दे अयोध्या, काशी, मथुरा, धारा 370 और समान नागरिक संहिता पर बोलने से बचते रहे।
 
जम्मू में अपनी रैली में उन्होंने 370 पर बहस की मांग उठा दी हालांकि दो दिन बाद ही पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने लखीमपुर खीरी में  मोदी की इस मांग को खारिज कर दिया और कहा कि पार्टी इस मुद्दे पर अपने पुराने रख पर कायम है। धारा 370 समाप्त ही होनी चाहिए। उत्तर प्रदेश में आयोजित दो रैलियां बहराइच और आगरा क्रमश: अयोध्या तथा मथुरा से काफी नजदीक थीं फिर भी  मोदी ने इन दोनों का जिक्र नहीं किया।पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्रों ने आज  बताया कि मोदी वाराणसी रैली के दौरान वहां की पहचान गंगा और बाबा विश्वनाथ के दर्शन करेंगे।


भाजपा के अनुषांगिक संगठन विश्व हिन्दू परिषद.विहिप. विश्वनाथ मन्दिर से सटे ज्ञानवापी मस्जिद को मन्दिर का ही हिस्सा बताता है और उस पर बहुसंख्यकों का मालिकाना हक होने का दावा करता है। विहिप की इस मांग की वजह से विश्वनाथ मन्दिर क्षेत्र काफी संवेदनशील है और उसकी सुरक्षा व्यवस्था अयोध्या के विवादित रामजन्मभूमि परिसर की तरह ही अभेद्य है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You