भाजपा के दुष्प्रचार अभियान से राजस्थान में मिली हार: गहलोत

You Are HereNational
Wednesday, December 18, 2013-6:54 PM

नई दिल्ली: राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य में हुए हालिया विधानसभा चुनावों में अपनी पार्टी की करारी हार के लिए नरेंद्र मोदी सहित भाजपा नेताओं के ‘‘दुष्प्रचार अभियान’’ को जिम्मेदार ठहराया। 

संसद के बाहर आज गहलोत ने कहा, ‘‘न तो नरेंद्र मोदी और न ही भाजपा के स्थानीय नेता विकास के मामले में हमारे कामों का मुकाबला कर सके....सोशल मीडिया के जरिए और हमारे नेताओं के बारे में सीडी बांटकर भाजपा द्वारा दुष्प्रचार अभियान चलाया गया। उन्होंने जिस तरह से सांप्रदायिक विभाजन पैदा किया, मैं समझता हूं कि वे सभी कारक इसके पीछे रहे।’’

राजस्थान में हुए हालिया विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की करारी हार के कारणों के बारे में गहलोत से प्रतिक्रिया की मांग की गयी थी। भाजपा ने विधानसभा की 200 सीटों में से 163 पर जीत हासिल की। यह पूछे जाने पर कि वह और उनकी पार्टी दुष्प्रचार अभियान का मुकाबला क्यों नहीं कर सके, इस पर गहलोत ने कहा, ‘‘किसी इमारत को गिराना आसान है, बनाना मुश्किल। जातिवादी और धार्मिक संवेदनाएं उकसायी गईं और मेरा मानना है कि यही कारक रहे होंगे।’’

गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ हुई बैठक में उन्होंने ‘‘उस जनादेश के बारे में उन्हें बताया जो वहां मिला और जिस परिस्थितियों में हमने चुनाव लड़ा।’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में उनके खिलाफ कोई सत्ता विरोधी लहर नहीं थी और मेरा मानना है कि यदि मेरी सरकार के खिलाफ कोई लहर होती तो हम उस तरह की हार का सामना नहीं करते, जैसी हार हमें इस बार मिली है। उन्होंने कहा कि नि:शुल्क दवा वितरण जैसी सामाजिक सुरक्षा योजनाएं राज्य में काफी लोकप्रिय रही हैं और कई दूसरे राज्यों ने भी उन्हें अपनाया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You