राहुल की मोदी से कोई तुलना नहीं: रामदेव

  • राहुल की मोदी से कोई तुलना नहीं: रामदेव
You Are HereNational
Saturday, December 21, 2013-8:39 AM

शिमला: योगगुरु रामदेव ने कहा कि चार राज्यों के विधानसभा चुनाव में जबर्दस्त हार के बाद कांग्रेस के समक्ष आगामी 2014 के लोकसभा चुनाव में एक बेहद मुश्किल राह है। रामदेव ने यहां कहा, ‘‘देश में कांग्रेस विरोधी मजबूत लहर चल रही है और जनता भ्रष्टाचार, कुशासन और संप्रग सरकार के सभी मोर्चों पर विफलता से तंग होकर एक परिवर्तन के लिए परेशान है।’’  उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) का दिल्ली में उभरना लोगों की मनोदशा का प्रतिबिंब है।  रामदेव ने जोर देकर कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की गुजरात के मुख्यमंत्री नरेद्र मोदी से कोई तुलना ही नहीं है। दोनों नेताओं के गत 10 वर्षों के प्रदर्शन ने जनता के समक्ष स्पष्ट कर दिया कि ‘‘मोदी ने अपना कद अपनी कड़ी मेहनत, निष्ठा और दूरदृष्टि से हासिल किया है जबकि राहुल को यह विरासत में मिला है।’’

उन्होंने कांगेरस पर भ्रष्टाचार रोकने, बेरोजगार युवकों को नौकरी मुहैया कराने और विदेशी बैंकों में जमा काला धन वापस लाने के लिए कोई कदम नहीं उठाने का आरोप लगाया और कहा कि जनता बढ़ती महंगाई, भ्रष्टाचार और अपराध से परेशान हैं। रामदेव ने आप की सफलता पर कहा कि यह लोगों की कांग्रेस विरोधी भावनाओं का परिणाम है और पार्टी का राष्ट्रीय स्तर पर ‘‘राजनीतिक कद’’ अभी हासिल करना बाकी है। रामदेव ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने ‘‘गुरु शिष्य’’ परंपरा का पालन नहीं किया और अन्ना हजारे से अलग हो गए जिन्होंने लोकपाल के लिए आंदोलन का नेतृत्व किया था। उन्होंने लोकपाल विधेयक पारित कराने का श्रेय अन्ना हजारे को देते हुए कहा कि गांधीवादी नेता ने आंदोलन का नेतृत्व किया लेकिन वही (रामदेव) थे जिन्होंने उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर आगे बढ़ाया और एक राष्ट्रीय मंच मुहैया कराया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You