आदर्श घोटाला: देवयानी ने भी खरीदा था गैरकानूनी ढंग से फ्लैट

  • आदर्श घोटाला: देवयानी ने भी खरीदा था गैरकानूनी ढंग से फ्लैट
You Are HereNational
Saturday, December 21, 2013-10:32 AM

मुंबई: आदर्श घोटाले मामले पर महाराष्ट्र सरकार ने शुक्रवार को न्यायिक जांच पैनल की रिपोर्ट को खारिज कर दिया था जिसमें तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों समेत कई नेताओं को वैधानिक प्रावधानों के गंभीर उल्लंघनों का दोषी ठहराया गया था। सूत्रों के अनुसार हाई कोर्ट के रिटायर जज जे. ए. पाटील की अध्यक्षता वाले 2 सदस्यीय आयोग की रिपोर्ट में जुड़ें लोगों पर प्रहार करते हुए कहा कि घोटाला एक बुरी परंपरा है। जांच पैनल ने इस घोटाले में 102 मेंबरों में से 25 को अयोग्य पाया और फ्लैटों की बेनामी खरीद-फरोख्त के 22 मामले सामने आए हैं।

 

सूत्रों के अनुसार घोटाला मामले में अमेरिका के साथ पैदा हुए राजनयिक विवाद के केंद्र में रहने वाली देवयानी खोब्रागड़े भी है। पैनल की जांच के आधार पर देवयानी ने भी गैरकानूनी ढंग से फ्लैट खरीदा था। न्यायिक जांच पैनल की रिपोर्ट के अनुसार आदर्श सोसायटी को पूर्व मुख्यमंत्रियों विलासराव देशमुख, सुशील कुमार शिंदे और अशोक चव्हाण, पूर्व राजस्व मंत्री शिवाजीराव पाटील, पूर्व शहरी विकास मंत्री सुनील तत्करे और पूर्व शहरी विकास मंत्री राजेश तोपे का राजनीतिक संरक्षण हासिल था लेकिन अशोक चव्हाण ऐसे अकेले मुख्यमंत्री हैं जिन पर सीबीआई ने आरोप लगाए हैं। लेकिन राज्यपाल के. शंकरनारायणन ने अशोक चव्हाण के खिलाफ मुकदमा चलाने की इजाजत देने से इनकार किया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You