मर्दानगी की दवा लेते हैं सांसद: गुलाम नबी आजाद

You Are HereNational
Sunday, December 22, 2013-1:01 PM

जम्मू: आपको जानकर ताज्जुब होगा कि देश के कई सांसद जवान बने रहने और याददाशत बढ़ाने के लिए शादी के बाद काम आने वाली आयुर्वेद की दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं, यह दावा खुद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री गुलाम नबी आजाद ने किया है।

जम्मू में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आयोजित आरोग्य मेले में आजाद ने कहा कि इस बार लोकसभा सत्र में एक सासंद ने पूछा था कि सांसद सबसे ज्यादा कौन सी आयुर्वेदिक दवाइयां लेते हैं? आजाद ने दावा किया कि जब उन्होंन इसकी जानकारी ली तो पता चला कि देश के सांसद तीन आयुर्वेदिक दवाइयों का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं, जिनमें जवान बने रहे वाली, याददाश्त बढ़ाने वाली और शादी के बाद काम आने वाली दवाई शामिल है इस दौरान जम्मू-कश्मीर के युवा कहे जाने वाले मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला भी मंच पर मौजूद थे। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री की ओर देखते हुए कहा कि वह योगा नहीं करते क्योंकि उन्हें डर है कि कहीं उन्हें योगा करने के बाद हड्डियों के अस्पताल न जाना पड़े मजाकियां लहज में उन्होंने इतना जरूर कहा कि उनके बाल सफेद हो रहे हैं इसलिए वह गुलाम नबी आजाद से जवान दिखने में मदद करने वाली दवा जरूर लेना चाहेंगे। उमर ने यह भी कहा कि वह अपने पिता और केंद्रीय अक्षय ऊर्जा मंत्री फारूक अब्दुल्ला की बिगड़ती तबीयत से परेशान हैं।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You