पढ़े-लिखे विधायक ही बनेंगे मंत्री

  • पढ़े-लिखे विधायक ही बनेंगे मंत्री
You Are HereNcr
Sunday, December 22, 2013-1:55 PM

नई दिल्ली (निहाल सिंह): कांग्रेस के समर्थन से यदि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है तो उसमें शिक्षित विधायकों को मंत्री बनाने पर खास ध्यान दिया गया है। आप के कई नेता इस बात के पक्ष में हैं कि मेहनत के दम पर चुनाव में आम जनता का दिल जीतने वालों पर ध्यान है, उन्हें भी आगे बढ़ाया जाए। खासतौर से आप के जिन विधायकों ने कांग्रेस के दिग्गज नेताओं या मंत्रियों को धराशायी किया है।

सूत्रों के अनुसार मंत्रिमंडल में कुछ ऐसे विधायकों को भी शामिल किए जाने पर गंभीरता से विचार किया गया है जिन्होंने चुनाव के दौरान जनता को आप की विचारधारा से जोड़ा। ऐसा कर उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। दरअसल ऐसा कदम उठाकर आम आदमी पार्टी जनता में साफतौर पर यह संदेश देना चाहती है कि कोई भी व्यक्ति विधायक या मंत्री बन सकता है। माना जा रहा है कि आप द्वारा इस तरह का संदेश देने से ज्यादा से ज्यादा लोग पार्टी से जुड़ेंगे।

विधानसभा अध्यक्ष पद पर एक विधायक का चयन करने की प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया है। अरविंद केजरीवाल को विधायक दल का नेता चुने जाने से साफ है कि उन्हें ही मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। पार्टी के दूसरे नेता मनीष सिसौदिया को मंत्री बनाने के लिए जोर तो दिया जा रहा है लेकिन पार्टी अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव को भी ध्यान में रखते हुए चल रही है। इस बारे में फैसला अंतिम क्षणों में ही लिया जा सकता है।

इसके अलावा जिन विधायकों को मंत्री बनाने की चर्चा जोरों पर चल रही है, उनमें रोहिणी से भाजपा के दिग्गज नेता जयभगवान गोयल को बुरी तरह से परास्त करने वाले राजेश गर्ग, तिलक नगर से विधायक के पुत्र राजीव बब्बर को हराने वाले जनरैल सिंह, दिल्ली केंट से लगातार 4 बार से चुनाव जीतते आ रहे भाजपा के दिग्गज नेता करण सिंह तंवर को शिकस्त देने वाले कमांडो सुरेन्द्र सिंह, पटेल नगर के विधायक राजेश लिलोथिया को बुरी तरह से शिकस्त देने वाली वीना आनंद, विधानसभा के उपाध्यक्ष दलित नेता अमरीश गौतम को हराने वाले मनोज कुमार शामिल हैं।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के खास मंत्री कहे जाने वाले मंगोलपुरी के विधायक राजकुमार चौहान को भारी मतों के अंतर से चित्त करने वाली राखी बिरला, त्रिलोकपुरी से विधायक राजू और चौथी विधानसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक रहे कुंवर करण सिंह को बुरी तरह से पटखनी देने वाले अखिलेखपति त्रिपाठी आदि के नाम शामिल हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You