राजनीति का मतलब अब जनसेवा है : केजरीवाल

  • राजनीति का मतलब अब जनसेवा है : केजरीवाल
You Are HereNcr
Monday, December 23, 2013-1:22 PM

नई दिल्ली:  अरविंद केजरीवाल दिल्ली में सरकार बनाने जा रहे हैं। पेश है उनसे ताजा बातचीत के  प्रमुख अंश:

आप अपने घोषणा-पत्र के वादों को पूरा कर पाएंगे?
भगवान हमें हौसला दे कि हम लोगों की सभी उम्मीदों को पूरा कर पाएं। हमने अपनी टीम के विशेषज्ञों की सलाह से घोषणा-पत्र को तैयार किया गया था और घोषणा-पत्र बनाते समय इन बातों को भी ध्यान में रखा गया था कि इन वायदों को पूरा कैसे किया जाएगा? इसलिए हमारे पास फार्मूला है और वायदों को पूरा भी किया जाएगा।

क्या सरकार बनाने के लिए किसी तरह का समझौता करना जरूरी है?
सरकार चलाने के लिए किसी तरह का समझौता नहीं करना पड़ता। अब वक्त बदल रहा है और लोग देश में परिवर्तन चाहते हैं। हमें जन-जन के अंदर देशभक्ति की भावना लानी होगी। तभी बड़े पैमाने पर बदलाव किया जा सकता है।

आपकी जीत का बाकी पार्टियों पर क्या असर पड़ा है?
राजनीति में एक नए तरह का क्रांतिकारी बदलाव आ रहा है। अब सभी पार्टियां यह समझने को मजबूर कर दी गई हैं कि भाई राजनीति का मतलब देश की सेवा करना होता है। यही वजह है कि पार्टियां अब देश की जनता से डरने लगी हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You