फिर हुई सच्चे प्यार की जीत?

  • फिर हुई सच्चे प्यार की जीत?
You Are HereNational
Monday, December 23, 2013-2:20 PM

पटना: विवाह के एक सप्ताह के बाद ही अगर पति को अपनी पत्नी को उसके प्रेमी तक पहुंचाना पड़े तो इसे पति की दरियादिली कहा जाए या फिर सच्चे प्यार की जीत? यह कहानी आपको भले ही फिल्मी लगे लेकिन यह सच है।

पटना में सरकारी विभाग में एक बड़े ओहदे पर कार्यरत एक युवक का विवाह बड़े ही धूमधाम से मोतिहारी की एक लड़की के साथ एक पखवारे पूर्व हुआ था। इस विवाह समारोह में कई बड़े-बड़े अधिकारी भी शामिल हुए थे। विवाह के बाद युवक अपनी पत्नी को लेकर हनीमून पर निकला।

इस क्रम में वह हवाई जहाज से दिल्ली होते हुए केरल पहुंच गया। हनीमून पर जाने के पूर्व तक लड़की ने अपने पति को कुछ भी नहीं बताया और केरल में लड़की ने उसे अपनी पिछली जिंदगी की हकीकत बताई।

लड़की ने वहां जाकर बताया कि वह किसी और से प्यार करती है और उसके बिना वह नहीं रह सकती। उसने यह भी कहा कि वह अपने प्रेमी के साथ छह वर्षों से लिव इन रिलेशन में है। इसके बाद भी पति पिछली बातों को भूलकर नए जीवन जीने की बात कही, परंतु उसकी पत्नी इसके लिए किसी हाल में तैयार नहीं थी। उसने स्पष्ट कह दिया वह  इस रिश्ते को आगे नहीं बढ़ा सकती।

इसके बाद दोनों पटना वापस आ गए। पटना आने के बाद पति-पत्नी महिला थाना पहुंचे। पटना महिला थाना की प्रभारी मृदुला कुमारी ने सोमवार को बताया कि दोनों की बातें सुनकर दोनों के परिजनों को बुलाया गया और पूरी स्थिति की जानकारी ली गई। उन्होंने बताया कि लड़की को काफी समझाया गया परंतु लड़की किसी भी हाल में इस रिश्ते को आगे बढ़ाने को तैयार नहीं थी और दोनों बालिग भी थे।  उन्होंने बताया कि दोनों को न्यायालय भेजा गया जहां तलाकनामा पर हस्ताक्षर किया गया। इसके बाद पति ने अपनी पत्नी को उसके प्रेमी के पास जाने के लिए आजाद कर दिया।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You