लोकसभा चुनाव में भाजपा को घेरने के लिए कांग्रेस ने किया ‘आप’ से गठबंधन

  • लोकसभा चुनाव में भाजपा को घेरने के लिए कांग्रेस ने किया ‘आप’ से गठबंधन
You Are HereNational
Monday, December 23, 2013-9:15 PM

नई दिल्ली: भाजपा नेताओं का मानना है कि कांग्रेस ने आगामी लोकसभा चुनाव के दौरान राष्ट्रीय राजधानी और उसके आस-पास के इलाकों में मुख्य विपक्षी दल की संभावनाएं कम करने के प्रयास में दिल्ली में ‘आप’ से गठबंधन किया है। भाजपा नेताओं ने स्वीकार किया कि ‘आप’ लोकसभा चुनाव के दौरान कुछ शहरी चुनाव क्षेत्रों में भाजपा की संभावनाओं को कमजोर कर सकती है।

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने अपना नाम उजागर नहीं करने के आग्रह पर कहा कि भ्रष्टाचार और घोटालों के चलते संप्रग सरकार की साख गिरने के चलते कांग्रेस अब आम आदमी पार्टी के बल पर मुख्य विपक्षी दल के खिलाफ कुछ विश्वसनीय चुनौती बनाने का प्रयास कर रही है। इस पार्टी के एक नेता ने कहा, ‘‘आप-कांग्रेस गठबंधन अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सकेगा और कांग्रेस लोकसभा चुनाव के बाद अपना समर्थन वापस ले सकती है।’’

मुख्य विपक्षी दल के नेताओं का यह आकलन भी है कि कांग्रेस के समर्थन से आप सरकार कुछ ज्यादा उपलब्धियां हासिल नहीं कर सकेगी और अरविंद केजरीवाल की अपरंपरागत नेता की छवि से आप की संभावनाएं शीघ्र ही क्षीण होने लगेंगी। उनके अनुसार केजरीवाल नेता से कहीं अधिक ‘‘कार्यकर्ता और वह भी अराजकतावादी’’ नेता नजर आते हैं। वह चुनावी वायदों को पूरा करने में कठिनाई महसूस करेंगे।

उधर भाजपा के प्रवक्ता प्रकाश जावडेकर ने ‘‘आप-कांग्रेस गठबंधन’’ को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि केजरीवाल को कांग्रेस से समर्थन लेने के लिए बहुत से सवालों के जवाब देने होंगे। चुनाव से पहले तक कांग्रेस को निशाने पर लेने और उसके समर्थन से सरकार नहीं बनाने की बात दोहराने वाली ‘आप’ अब अपने रूख को बदलते हुए कांग्रेस के बाहरी समर्थन से दिल्ली में सरकार बनाने पर आज राजी हो गई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You