मोदी रहे 2013 के न्यूजमेकर

  • मोदी रहे 2013 के न्यूजमेकर
You Are HereNational
Tuesday, December 24, 2013-12:32 PM

अहमदाबाद: प्रधानमंत्री पद के लिए भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार बनने के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव के लिए एक जोरदार मुहिम छेड़ी है जिसने उनके कारोबार उन्मुख राज्य में राजनीतिक जोश का संचार किया है। बहरहाल, 2002 के गुजरात दंगों ने मोदी का अब भी पीछा नहीं छोड़ा है और उन्हें क्लीन चिट देने के एसआईटी के फैसले के खिलाफ कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी की विधवा जकिया जाफरी ने याचिका दायर की है। सुप्रीम कोर्ट से नियुक्त एसआईटी की जांच से दंगों और फर्जी मुठभेड़ के सिलसिले में कई राजनीतिज्ञ और वरिष्ठ पुलिस अधिकारी जेल में हैं।

इस बीच, मोदी सरकार ने राज्य सुरक्षा एजेंसी से एक महिला की जासूसी के आरोपों की जांच के लिए दो सदस्यों का एक आयोग गठित किया है। एक अन्य अहम घटनाक्रम में गुजरात में एक दशक से रिक्त लोकायुक्त का पद भरा गया। स्वंयभू धर्मगुरू आसाराम बापू और उनके बेटे नारायण साईं के खिलाफ सूरत की दो बहनों के बलात्कार के आरोप और उसके बाद उनकी गिरफ्तारी भी राज्य की सुर्खियों में छाई रही। 214 फुट लंबी सुरंग खोद कर साबरमती जेल से फरार होने की 2008 के अहमदाबाद विस्फोट के एक आरोपी की कोशिश भी सुर्खियों में रही।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You