केजरीवाल ने दिल्ली में सरकारी बंगले की पेशकश ठुकराई

  • केजरीवाल ने दिल्ली में सरकारी बंगले की पेशकश ठुकराई
You Are HereNational
Tuesday, December 24, 2013-4:11 PM

नई दिल्ली: अनेक वादों को पूरा करने और देश की राजधानी से वीआईपी कल्चर समाप्त करने के इरादे से दिल्ली के मुख्यमंत्री का कमान संभालने जा रहे आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने आज सरकारी बंगला लेने से इन्कार कर दिया।

केजरीवाल ने कल अपने लिए जेड प्लस सुरक्षा लेने से इन्का कर दिया था। उन्होंने पहले से ही घोषणा कर रखी है कि दिल्ली सरकारका कोई भी मंत्री और विधायक न तो सुरक्षा लेगा और न ही बड़े सरकारी बंगले में रहेंगा।

दिल्ली के मुख्य सचिव डी एम सपोलिया ने आज केजरीवाल से उनके घर पर मुलाकात की और दिल्ली में सरकारी बंगले की उन्हें पेशकशकी लेकिन केजरीवाल ने इससे इन्कार कर दिया।

केजरीवाल 26 दिसंबर को रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं। इस बीच केजरीवाल ने ईमानदार अफसरों की टीम जुटाने की कवायद भी शुरू कर दी है। केजरीवाल ने अपने  साथ ऐसे अफसरों को जोडना शुरू  कर दिया है जो उनकी योजना के मुताबिक काम कर सकें।

समझा जाता है कि केजरीवाल ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी राजेंद्र कुमार को अपना मुख्य सचिव बनाने का फैसला  किया है। वह इस समय दिल्ली में उच्च शिक्षा विभाग में सचिव हैं। कुमार ने तीन साल पहले मुख्य सचिव विद्युत रहते हुए बिजली कंपनियों के आडिट के आदेश दिए थे। इसी सिलसिले में कुमार आज केजरीवाल से मिलने उनके घर भी पहुंचे। इसके अलावा गाजियाबाद के पुलिस अधीक्षक और सॢकल अफसर ने भी केजरीवाल से मुलाकात की।
  


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You