वीरप्पा मोइली ने आज वन एवं पर्यावरण मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार संभाला

  • वीरप्पा मोइली ने आज वन एवं पर्यावरण मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार संभाला
You Are HereNational
Tuesday, December 24, 2013-4:07 PM

नर्इ दिल्ली: पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री एम वीरप्पा मोइली ने आज यहां वन एवं पर्यावरण मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार संभालने के बाद साफ तौर पर कहा कि इस विभाग के (हरित एजेंडे) के साथ कोई समझौता नहीं होगा और वह विकास परियोजनाओं को स्वीकृति देने में निर्धारित नियमों के अनुसार ही कामकरेगें।
 
मोइली ने कहा कि परियोजनाओं को मंजूरी देने में कोई भेदभाव नहीं किया जाएगा। जो नियम पूर्व से ही निर्धारित हैं, उनके अनुसार ही काम किया जाएगा। मोइली ने इस प्रकार कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के फिक्की के कार्यक्रम में संबोधन को ही उद्बोधित किया जिसमें गांधी ने कहा था कि पर्यावरण मंत्री हो या मुख्यमंत्री, सभी को कानून के हिसाब से काम करना होगा, भेदभाव से नहीं।
 
मोइली को वन एवं पर्यावरण राज्य मंत्री,स्वतंत्र प्रभार, जयंती नटराजन के शनिवार को इस्तीफे के बाद इस मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। उन्होंने एक सवाल पर कहा कि विकास एवं पर्यावरण सरंक्षण में कोई टकराव नहीं है। इस पृथ्वी पर पर्यावरण, जीव जन्तुओं और मनुष्यों सभी के लिये स्थान है। टकराव की बात सिर्फ मानसिक सोच का नतीजा है। उन्होंने कहा कि वन एवं पर्यावरण मंत्रालय की भूमिका एक नियामक की है जहां सब कुछ तय नियमों के अनुसार ही होता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You