खदान का विकास नहीं होने पर रद्द हुआ आवंटन

  • खदान का विकास नहीं होने पर रद्द हुआ आवंटन
You Are HereNational
Tuesday, December 24, 2013-7:21 PM

नई दिल्ली : सरकार ने जेएसपीएल तथा गगन स्पांज आयरन को झारखंड में आवंटित अमर कोंडा-मुर्गडंडाल कोयला खदान का आवंटन रद्द कर दिया है। खदान का विकास समय पर नहीं करने को लेकर खदान का आवंटन रद्द किया गया है।

साथ ही सार्वजनिक क्षेत्र की एनटीपीसी समेत अन्य कंपनियों ने उन्हें आवंटित कोयला खदानों के विकास में धीमी प्रगति को लेकर स्पष्टीकरण मांगा है। एक सप्ताह के भीतर जिंदल स्टील एंड पावर लि. (जेएसपीएल) से जुड़ा यह इस तरह का दूसरा फैसला है।
 
कोयला मंत्रालय ने दोनों कंपनियों को 20 दिसंबर को लिखे पत्र में कहा  कि आवंटी कंपनियों को कोयला खदान के विकास के लिए कई अवसर दिए गए लेकिन कंपनी उसका विकास करने में विफल रही।

इससे पहले, अंतर-मंत्रालयी समूह ने 24 और 25 अक्तूबर को इस खदान के आवंटन रद्द करने की सिफारिश की थी। साथ ही मंत्रालय ने दो कंपनियों एनटीपीसी तथा ओडि़शा बिजली उत्पादन कंपनी से कोयला खदानों के विकास में धीमी प्रगति को लेकर स्पष्टीकरण मांगा है। 

एनटीपीसी से दुलांगा कोयला खदान तथा ओडि़सा बिजली उत्पादन निगम से मनोहरपुर और गहरे मनोहरपुर कोयला खदानों के मामले में स्पष्टीकरण मांगा गया है। उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह मंत्रालय ने जेएसपीएल तथा मोनेट इस्पात एंड एनर्जी लि. को मध्य प्रदेश में आवंटित कोयला खदान का आवंटन रद्द किया था। दोनों कंपनियां इसका विकास करने में विफल रही।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You