‘सपाई गुंडों के खिलाफ कार्रवाई करें मुलायम’

  • ‘सपाई गुंडों के खिलाफ कार्रवाई करें मुलायम’
You Are HereNational
Wednesday, December 25, 2013-11:59 AM

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव अपनी पार्टी के गुंडों को चेतावनी देने के बजाए उनके खिलाफ  कार्रवाई करने का साहस दिखाएं। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि अखिलेश सरकार के गठन से ही कार्यकर्ताओं को नसीहतों का पाठ पढ़ा रहे मुलायम सिंह यादव की कथनी और करनी में विभेद के कारण इन चेतावनियों का असर नहीं पड़ रहा है। यह कब तक कह कर काम चलाया जाएगा की गुंडई करने वाले पार्टी से बाहर होंगे।

पाठक ने सपा प्रमुख के बयानों पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि राहत शिविरों में जिन साजिशों की बात सपा प्रमुख करते हैं, उन साजिशों के बारे में मुख्यमंत्री को क्यों पता नहीं? आखिर राज्य का मुख्यमंत्री कौन है, मुलायम या अखिलेश यादव। पाठक ने पार्टी के राज्य मुख्यालय पर मंगलवार को संवाददाताओं से ये बातें कही। उन्होंने कहा, ‘‘यह समझ से परे है कि लगातार दावों के विपरीत सपाई अपनी ही सरकार की कानून-व्यवस्था के लिए चुनौती बनते हैं, उन पर कार्रवाई नहीं होती। जन सुनवाई का यह आलम है कि पार्टी के विधायकों को सार्वजनिक रूप से यह कहना पड़ा कि राजधानी लखनऊ  की पुलिस संगठित रूप से 50 लाख रुपये की वसूली प्रतिमाह करती है। इतनी बड़ी वसूली बगैर सत्ता के संरक्षण के कैसे संभव है।’’

पाठक ने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगों को लेकर संकीर्णता पाले लोग कभी दंगों को जातीय संघर्ष बताते हैं तो कभी राहत शिविरों में रह रहे लोगों को निशाने पर लेकर उन्हें शरणार्थी के बजाय साजिशकर्ता करार देने में लग जाते हैं। उन्होंने कहा कि सपा प्रमुख और मुख्यमंत्री में संवादहीनता की स्थिति यह है कि दंगों का दंश झेल रहे लोगों को मुलायम जहां साजिशकर्ता बता रहे हैं, वहीं सरकार ने माना की वे शरणार्थी हैं और उन्हें शीघ्र ही वापस गांव भेजने का प्रयास किया जा रहा है। पाठक ने मुख्यमंत्री अखिलेश से सवाल किया कि राहत शिविरों मे रह रहे पीड़ितों (साजिशकर्ताओं) को घर वापस भेजने में और कितने दिन लगेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You