'आप' ने निशाना बनाया तो चुप नहीं बैठेंगे: कांग्रेस

  • 'आप' ने निशाना बनाया तो चुप नहीं बैठेंगे: कांग्रेस
You Are HereNational
Thursday, December 26, 2013-10:26 AM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की ओर से संकेत आ रहे है कि 15 साल के शीला सरकार के शासनकाल के दौरान भ्रष्टाचार के कथित मामलों की जांच करा सकती है।  दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली ने आज यहां संवाददाताओं से कहा कि अगर किसी पार्टी ने अपना राजनीतिक झगड़ा निपटाने का प्रयास किया तो हम निश्चित रूप से आवाज उठाएंगे।

भ्रष्टाचार पर आप के रूख का उल्लेख करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार से मुकाबला करना हर मुख्यमंत्री का दायित्व है। जब वे शपथ लेते हैं तो वे भ्रष्टाचार से लडऩे की भी शपथ लेते हैं। यह जरूरी नहीं कि चुनाव घोषणा पत्र में इसका जिक्र किया जाए। उन्होंने इस बात को दोहराया कि आप को सरकार के गठन में कांग्रेस के समर्थन में कोई बदलाव नहीं आया है। उन्होंने कहा कि पार्टी नयी सरकार को सिर्फ विधानसभा में ही अपना समर्थन देगी।

वहीं दूसरी ओर, कांग्रेस पार्टी ने बुधवार को कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) को दिल्ली में सरकार बनाने के लिए ‘मुद्दों पर आधारित समर्थन’ की घोषणा की गई है और इस पर पार्टी में पुनर्विचार नहीं हो रहा है। कांग्रेस ने उन अटकलों को खारिज कर दिया, जिसमें कहा जा रहा था कि कांग्रेस समर्थन पर दोबारा विचार कर सकती है। इन अटकलों पर आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कांग्रेस कोई भी निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है। केजरीवाल शनिवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के पुत्र और कांग्रेस प्रवक्ता संदीप दीक्षित ने टाइम्स नाउ से कहा, ‘‘आप को मुद्दों पर आधारित समर्थन देने पर कांग्रेस में कोई पुनर्विचार नहीं चल रहा।’’ उन्होंने कहा कि ‘आप’ के घोषणापत्र में जनता से किए गए विकास के वादों के कारण ही कांग्रेस ‘आप’ को समर्थन दे रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You