जनलोकपाल के लिए निकालेंगे रास्ता : केजरीवाल

  • जनलोकपाल के लिए निकालेंगे रास्ता : केजरीवाल
You Are HereNational
Thursday, December 26, 2013-9:50 PM

नई दिल्ली : दिल्ली के सातवें मुख्यमंत्री बनने जा रहे अरविंद केजरीवाल को शपथ लेने में भले ही अभी दो दिन शेष बचे हों, लेकिन अपनी फरियाद लेकर लोग उनके पास अभी से पहुंचने लगे हैं।

मजेदार बात यह है कि केजरीवाल भले ही दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने वाले हैं लेकिन पूरे देश की जनता उनसे उम्मीद लगाने लगे हैं। यही वजह है कि कौशांबी स्थित अपने घर पर जब उन्होंने जनता दरबार का आयोजन किया तो दिल्ली समेत उत्तर प्रदेश व हरियाणा के लोग वहां पहुंच गए।

जनता दरबार में केजरीवाल ने पुराने वादों को तो दोहराया ही, नए आश्वासनों की भी झड़ी लगा दी। जिसमें मैट्रो के विस्तार से लेकर जनलोकपाल के गठन की बात कही। यह अलग बात है कि केंद्र सरकार की सहमति के बिना इन मुद्दों को साकार कर पाना संभव नहीं है।

क्योंकि दिल्ली से बाहर मैट्रो का विस्तार संबंधित राज्य के मुख्यमंत्री व केंद्रीय शहरी विकास मंत्रलाय की सहमति के बिना संभव नहीं है। वहीं, जनलोकपाल बिल पर राज्य सरकार का कोई बस नहीं है। पर हां! मजबूत लोकायुक्त राज्य सरकार जरूरत गठित कर सकती है।

इस जनता दरबार में कोई उन्हें बधाई दे रहा था तो कोई अपनी समस्याएं सुना रहा था। एक समय तो समस्याएं सुनाने वालों की आवाज शोर में बदल गई। हालात बेकाबू होते देख केजरीवाल को माइक संभालना पड़ा। उन्होंने कहा कि जबतक हम नहीं सुधरेंगे देश कैसे सुधरेगा। इसलिए सभी लोग शांत होकर बारी-बारी से अपनी बातें कहें।

भ्रष्टाचार मिटाने व जनलोकपाल बिल लाने की बात पर उन्होने कहा कि जनलोकपाल बिल भी हमारी प्राथमिकता में है और हम इस बात पर अध्ययन कर रहे हैं कि इसे कैसे लाया जाए। सरकार बनने के 24 घंटे के बाद से मुफ्त पानी देने की बात तो वह पहले से कहते आ रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You