टाट्रा ट्रक सीधे निर्माता से खरीदने पर विचार: रक्षा मंत्रालय

  • टाट्रा ट्रक सीधे निर्माता से खरीदने पर विचार: रक्षा मंत्रालय
You Are HereNational
Thursday, December 26, 2013-9:53 PM

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने आज कहा कि टाट्रा ट्रकों को चेक गणराज्य में इसकी मूल निर्माता कंपनी से सीधे ही खरीदने के प्रस्ताव पर अंतिम फैसला अभी विचाराधीन है। रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने यहां कहा, ‘‘इस संबंध में प्रस्ताव रक्षा मंत्रालय के विचाराधीन है और इस विषय पर अंतिम फैसला बाद में लिया जाएगा।’’

प्रस्ताव के मुताबिक सरकार टाट्रा ट्रकों को एजेंट कंपनियों के माध्यम से खरीदने के बजाय उन्हें निर्माता कंपनी से सीधे खरीदने की योजना बना रही है। भारतीय सेना को टाट्रा ट्रक बेचने वाली एक एजेंट कंपनी उस समय विवादों में घिर गयी थी जब पूर्व सेना प्रमुख जनरल वी के सिंह ने आरोप लगाया था कि उन्हें इन वाहनों को खरीदने से जुड़ी फाइल को मंजूरी देने के लिए 14 करोड़ रूपए की रिश्वत की पेशकश की गई थी जिसके बाद सरकार ने मामले में सीबीआई जांच का आदेश दिया।

बेंगलूर स्थित सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम बीईएमएल और ब्रिटेन के टाट्रा सिपॉक्स के बीच सौदे की अवधि 17 दिसंबर को समाप्त हो गयी और योजना के मुताबिक रक्षा मंत्रालय चेक गणराज्य की टाट्रा ट्रक कंपनी से ट्रकों की आपूर्ति के लिए ऑर्डर दे सकता है। ब्रिटिश कंपनी से टाट्रा ट्रकों की खरीद रक जाने के चलते भारत में इस तरह के 6,500 से अधिक ट्रकों के बेड़े पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है क्योंकि यहां इसके कलपुर्जों की कमी है। पिछले साल आरोप सामने आने के बाद सरकार ने सीबीआई जांच लंबित रहने तक ट्रकों की खरीद रोकने का फैसला किया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You