मुलायम के बयान से आहत हैं दंगा पीड़ित

  • मुलायम के बयान से आहत हैं दंगा पीड़ित
You Are HereNational
Friday, December 27, 2013-12:11 AM

लखनऊः मुजफ्फरनगर के राहत शिविरों में रह रहे दंगा पीड़ित उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया मुलायम सिंह यादव के उस बयान से बेहद आहत हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि राहत शिविरों में दंगा पीड़ित नहीं, बल्कि कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लोग रह रहे हैं।

दंगा पाडि़तों ने कहा कि नेता राजनीति करने के बजाय एक रात शिविरों में गुजारें तो पता चलेगा कि हम लोग कैसे इस सर्दी में मर रहे हैं। मुजफ्फरनगर के लोई इलाके में स्थित राहत शिविर में रह रहे मोहम्मद शकील ने कहा, ‘‘हम सपा मुखिया के बयान से बहुत आहत हैं। राहत शिविरों में रह रहे पीड़ितों का किसी भी राजनीतिक दल से कोई वास्ता नहीं है, वे तो हालात और किस्मत के मारे हैं।’’

बीते दिनों बिना किसी पूर्व सूचना के कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का राहत शिविरों का दौरा करना और शिविरों की बदहाली का जिक्र करके राज्य सरकार पर निशाना साधना सपा प्रमुख मुलायम को बहुत नागवार गुजरा। पहले तो उन्होंने राहुल पर पलटवार किया कि कुछ नेता वहां जाकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। बाद में बौखलाए मुलायम ने कह दिया कि राहत शिविरों में रह रहे दंगा पीड़ित नहीं, बल्कि कांग्रेस और भाजपा के लोग हैं जो राज्य सरकार को बदनाम कर रहे हैं।

मुलायम के इस बयान पर दुख प्रकट करते हुए दंगा पीड़ित हिलाल अहमद ने कहा कि न वह भाजपा के हैं और न ही कांग्रेस के, वह खुदा के हैं, खुदा ही उनकी मदद करे। एक अन्य दंगा पीड़ित खुर्रम ने कहा, ‘‘मुलायम सिंह यादव शिविर में हमारे साथ एक रात गुजारकर देखें तो पता चलेगा कि हमारा जीवन कितना कठिन है।’’

गौरतलब है कि मुजफ्फरनगर के कवाल गांव में छेडख़ानी की एक घटना के बाद आठ सितंबर को हिंसा भड़क गई थी, जिसमें 62 लोग मारे गए थे और करीब 50 हजार लोगों को बेघर होकर राहत शिविरों में रहने को मजबूर होना पड़ा। शामली के मलकपुरा में स्थित राहत शिविर में तीन बच्चों के साथ रह रहीं शबीना ने कहा, ‘‘इस हाड़कंपाऊ सर्दी में हम और हमारे बच्चे रोज मौत से लड़ रहे हैं। नेताओं को हमारी मदद करनी चाहिए। बावजूद इसके वे ऐसे बयान देकर हमारे जख्मों पर नमक छिड़क रहे हैं। मुलायम सिंह यादव को अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You