मिड डे मील, नियामक मुद्दों जैसे विषयों ने एचआरडी मंत्रालय को 2013 में व्यस्त रखा

  • मिड डे मील, नियामक मुद्दों जैसे विषयों ने एचआरडी मंत्रालय को 2013 में व्यस्त रखा
You Are HereNational
Friday, December 27, 2013-3:07 PM

नई दिल्ली: बिहार में मिड डे मील खाने से 23 बच्चों की मौत जहां मानव संसाधन विकास मंत्रालय के लिए धक्का पहुंचाने वाली घटना रही, वहीं मंत्रालय 2013 में विभिन्न नियामक मुद्दों से जूझता रहा और इस दौरान तेलंगाना राज्य के गठन के विरोध में मंत्री एम एम पल्लम राजू का करीब दो महीने तक कार्यालय नहीं आना भी सुर्खियों में रहा। आंध्रप्रदेश के बंटवारे से क्षुब्ध राजू ने चार अक्तूबर को इस्तीफा दे दिया और अपने मंत्रालय का आधिकारिक कामकाज देखना बंद कर दिया हालांकि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अभी तक उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है।

 

राजू ने बाद में अपने आवास से काम करना शुरू किया हालांकि तेलंगाना के मुद्दे पर सरकार के रूख के प्रति अपना क्षोभ व्यक्त करने का एक भी मौका नहीं गंवाया। उन्होंने 20 दिसंबस से अपने कार्यालय में कामकाज शुरू किया। मंत्रालय की ओर से इस वर्ष शिक्षा सुधार के एजेंडे को आगे बढ़ाने की पहल के बीच देश के तकनीकी संस्थाओं के भविष्य पर उच्चतम न्यायालय के आदेश से इस दिशा में अड़चन पेश आई।

 

मानव संसाधन विकास मंत्रालय उच्चतम अदालत के आदेश को देखते हुए अध्यादेश लाने पर विचार कर रही है जिसमें तकनीकी पाठ्यक्रमों के संचालन पर एआईसीटीई के औचित्य पर सवाल खड़ा किया और यूजीसी से कालेजों को मंजूरी देने के संबंध में नियमन तैयार करने को कहा। इस सब के बीच बिहार में मध्याह्न भोजन खाने से 23 बच्चों की मौत की घटना से मंत्रालय स्तब्ध रह गया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You