कल से केजरीवाल होंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री

  • कल से केजरीवाल होंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री
You Are HereNational
Friday, December 27, 2013-6:09 PM

नई दिल्ली : भ्रष्टाचार के विरोध में शुरू किए गए अन्ना हजारे के आंदोलन से अलग होकर अपना दल बनाने वाले अरविंद केजरीवाल,कल दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने जा रहे हैं।

भारतीय राजस्व सेवा छोड़कर आरटीआई कार्यकर्ता और बाद में जन लोकपाल के लिए आंदोलन में जुड़े केजरीवाल अपने मंत्रिमंडल के छह सहयोगियों के साथ ऐतिहासिक रामलीला मैदान में सबसे युवा मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। समारोह में बड़ी संख्या में लोगों के उमडऩे की उम्मीद है।

हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को जबरदस्त जीत दिलाने वाले केजरीवाल के सामने अब दिल्ली का जन लोकपाल विधेयक पारित कराना, बिजली के दाम आधे करने की और राजधानी के हर घर में 700 लीटर प्रतिदिन मुफ्त पानी देने जैसे अहम वायदों को पूरा करने की चुनौती होगी।

दिल्ली की जनता को केजरीवाल से बहुत उम्मीद हैं क्योंकि वह चुनाव लडऩे से पहले राजधानी में ऑटोरिक्शा चालकों, झुग्गी वासियों और मध्यम वर्ग के परिवारों समेत सभी वर्गों को खुशहाली के सपने दिखा चुके हैं। कल शपथ ग्रहण करने के तत्काल बाद केजरीवाल अपने मंत्रिमंडल की बैठक ले सकते हैं और कुछ घोषणाएं कर सकते हैं।

कांग्रेस के बाहरी समर्थन से बन रही ‘आप’ की सरकार को अपने प्रमुख वायदों को प्राथमिकता के साथ पूरा करने के लिए दो महीने से थोड़ा ही अधिक वक्त मिलेगा क्योंकि मार्च में लोकसभा चुनावों के लिहाज से आदर्श आचार संहिता लागू होने की संभावना है।

दिल्ली के भावी मुख्यमंत्री ईमानदार अधिकारियों की पहचान शुरू कर दी है और उन्हें महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दिए जाने का संकेत भी दिया है। शुरूआत में आप ने कांग्रेस और भाजपा दोनों से ही समर्थन लेने से इनकार कर दिया था जिसके बाद दोनों बड़े दलों ने केजरीवाल की पार्टी पर इस डर से जिम्मेदारी से बचने का आरोप लगाया था कि वह अपने वायदों को पूरा नहीं कर पाएगी।

हालांकि बाद में जनमत सर्वेक्षण के नतीजों में आप द्वारा सरकार बनाने के जबरदस्त समर्थन के बाद सोमवार को केजरीवाल ने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You