पानी पर राहत, बिजली की तैयारी

  • पानी पर राहत, बिजली की तैयारी
You Are HereNcr
Tuesday, December 31, 2013-1:03 PM

नई दिल्ली (अशोक शर्मा): मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के एक बड़े चुनावी वादे को पूरा करते हुए मीटर कनैक्शन वाले सभी परिवारों को प्रतिमाह 20 हजार लीटर पानी फ्री देने की घोषणा की है। इसे दिल्लीवालों को नए साल का गिफ्ट माना जा रहा है। यह फैसला सोमवार को मुख्यमंत्री के कौशाम्बी स्थित आवास में उनकी अध्यक्षता में हुई दिल्ली जल बोर्ड की बैठक में लिया गया। अब लोगों को इंतजार दूसरे बड़े मुद्दे बिजली के बिल में 50 फीसदी राहत मिलने का है।

बैठक के बाद दिल्ली जल बोर्ड के नवनियुक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सी.ई.ओ.) विजय कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि मीटर कनैक्शन वाले सभी परिवारों को पहली जनवरी  से 20 हजार लीटर पानी मुफ्त मिलेगा। साथ ही पानी के बिल में कोई अतिरिक्त शुल्क जैसे जल उपकर और सीवरेज शुल्क नहीं लगाया जाएगा। यह सुविधा आगामी 31 मार्च तक लागू रहेगी। यानी अब 700 लीटर के बजाए हर परिवार को रोजाना 666 लीटर पानी फ्री मिलेगा, लेकिन यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि दिल्ली सरकार का यह फैसला 1600 अनधिकृत कालोनियों पर लागू होगा या नहीं। इसकी वजह यह है कि इन कालोनियों में पानी की आपूर्ति तो की जा रही है, लेकिन सभी मकानों में मीटर नहीं लगे हैं।

विजय कुमार ने बताया कि यदि कोई उपभोक्ता एक महीने में 20 हजार लीटर से अधिक पानी की खपत करता है, तो उसे पानी के शुल्क के साथ अन्य उपकर भी देने होंगे। याद रहे कि आम आदमी पार्टी ने अपने चुनावी घोषणा-पत्र में कहा था कि यदि वह सत्ता में आई तो हर परिवार को रोजाना 700 लीटर मुफ्त पानी की आपूर्ति करेगी। आप सरकार ने गत शनिवार को ही विजय कुमार को देबाश्री मुखर्जी के स्थान पर दिल्ली जल बोर्ड का सी.ई.ओ. नियुक्त किया था। समझा जाता है कि मुखर्जी को मुफ्त पानी की आपूर्ति करने पर ऐतराज था।

पिछले महीने दिल्ली जल बोर्ड ने अपनी वित्तीय हालात में सुधार के लिए जनवरी, 2014 से पानी का शुल्क 10 प्रतिशत बढ़ाने की योजना बनाई  थी। सोमवार की दोपहर तक ऐसा माना जा रहा था कि आप सरकार के एजेंडे के अनुसार फ्री पानी देने पर फैसला लेने का मसला आज टल सकता है। इसकी वजह थी कि 102 डिग्री बुखार होने की वजह से मुख्यमंत्री केजरीवाल सचिवालय नहीं पहुंच सके। लेकिन दोपहर बाद उन्होंने अपने कौशांबी स्थित आवास पर जल बोर्ड के अधिकारियों की बैठक बुलाई। अधिकारियों की बैठक में काफी विचार-विमर्श के बाद फ्री पानी देने का निर्णय लिया गया। बैठक में जल बोर्ड के सीईओ सहित समेत 15 अधिकारियों ने भाग लिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You