स्पीकर चुनाव में ‘आप’ की अग्नि परीक्षा

  • स्पीकर चुनाव में ‘आप’ की अग्नि परीक्षा
You Are HereNational
Tuesday, December 31, 2013-10:11 PM

नई दिल्ली : दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष पद को लेकर होने वाले चुनाव में आप और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला होने के आसार हैं। कांग्रेस के विधायक इस मसले पर अभी तक एकदम चुप्पी साधे हुए हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक रणनीति के तहत काम कर रहे हैं और अगले  48 घंटे के भीतर वह ज्यादा से ज्यादा चुनावी वादों को पूरा करने में जुटे हैं, लेकिन सदन में विश्वास मत हासिल करने के लिए होने वाले चुनाव को आप की अग्नि परीक्षा मानी जा रही है।

वरिष्ठ विधायक जगदीश मुखी ने प्रोटेम स्पीकर बनने से इंकार कर दिया है। मुखी का कहना है कि पार्टी के आदेश के मुताबिक ही उन्होंने यह कदम उठाया है। पार्टी ने फैसला लिया है कि भाजपा का कोई भी विधायक प्रोटेम स्पीकर नहीं बनेगा। इस सम्बंध में उन्होंने विधानसभा के सचिव को भी अवगत करा दिया था।

मुख्यमंत्री ने यह भी साफ कर दिया है कि आगामी 3 जनवरी को होने वाले चुनाव में आप के विधायक एम. एस. धीर स्पीकर पद के प्रत्याशी होंगे जबकि भाजपा ने इस चुनाव में वरिष्ठ विधायक जगदीश मुखी को खड़ा करने का मन बना लिया है।

इससे साफ हो गया है कि स्पीकर पद के लिए मुकाबला अब आप और भाजपा के बीच ही होगा। आप के 28 और उन्हें जेडीयू के एक विधायक का समर्थन प्राप्त है जबकि भाजपा और उनके सहयोग दल शिअद के 32 विधायक हैं। एक निर्दलीय और 8 कांग्रेस के विधायक हैं।

स्पीकर पद के चुनाव में कांग्रेस के विधायक क्या रणनीति अपनाते हैं, इसका सभी को इंतजार है। स्पीकर उसी दल का चुनाव जाएगा, जिसका आंकड़ा 36 को छू लेगा।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You