कनॉट प्लेस में लड़कियों ने खूब बजाई पीसीआर की घंटी

  • कनॉट प्लेस में लड़कियों ने खूब बजाई पीसीआर की घंटी
You Are HereNational
Tuesday, December 31, 2013-10:37 PM

नई दिल्ली (कुमार गजेन्द्र): नए साल से ठीक पहले यानी 31 दिसम्बर की रात युवतियों ने सबसे ज्यादा पुलिस कंट्रोल रूम की घंटी बजाई। युवतियां पीसीआर से मदद इस बात की मांग रही थीं कि उन्हें कनॅाट प्लेस से निकलने की व्यवस्था की जाए।

पीसीआर की गाड़ी उन्हें किसी ऐसे स्थान पर पहुंचा दे, जहां से उन्हें घर तक पहुंचने के लिए सार्वजनिक परिवहन की गाड़ी या फिर ऑटो, टैक्सी मिल जाए। दिल्ली पुलिस के कंट्रोल रूम में तैनात एक अधिकारी के मुताबिक 31 दिसम्बर की रात में उन्हें सबसे ज्यादा फोन कॉल युवतियों के आए हैं। ज्यादातर कॉल कनॉट प्लेस इलाके से किए जा रहे थे।

सूचना पाकर पीसीआर की गाड़ी मौके पर पहुंची और लड़कियों और महिलाओं की मदद की। नए साल का जश्न कनॉट प्लेस में सबसे ज्यादा धूम-धाम से मनाया जाता है, इसके लिए दिल्ली के विभिन्न इलाकों से लोग यहां पहुंचते हैं। लेकिन बीते कई सालों की तरह इस बार भी पुलिस की नजर कनॉट प्लेस पर सबसे ज्यादा रही।

पुलिस ने शाम 7 बजे से ही इस इलाके में अपना डंडा चलाना शुरू कर दिया था। रात होते-होते पुलिस ने पूरे कनॉट प्लेस को खाली करा दिया था। लेकिन सबसे ज्यादा परेशानी महिलाओं को हुई, जो इस इलाके में स्थित ऑफिसों में काम करती थीं।

रात के अंधेरे में किलोमीटरों का फासला तय करने के बाद भी जब महिलाओं को परिवहन के नाम पर कुछ नहीं मिला तो उन्होंने पीसीआर को मदद के लिए आने को कहा। पुलिस ने भी कॉल करने वाली महिलाओं को निराश नहीं किया। पीसीआर कॉल करने के पांच से दस मिनट के भीतर पहुंच गई।

गौरतलब है कि कल ही घोषणा कर दी गई थी कि 31 दिसंबर को शाम सात बजे के बाद कनॉट प्लेस में सार्वजनिक परिवहन के प्रवेश पर पूरी तरह पाबंदी रहेगी। इसके अलावा शाम 7:30 बजे के बाद राजीव चौक, बाराखंभा रोड तथा पटेल चौक मैट्रो स्टेशन से प्रवेश व निकास पर पाबंदी लगा दी गई जाएगी।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You