केजरीवाल के सफर को भुनाएगा डीएमआरसी

  • केजरीवाल के सफर को भुनाएगा डीएमआरसी
You Are HereNcr
Wednesday, January 01, 2014-8:42 AM

नई दिल्ली (धनंजय कुमार): दिल्ली मैट्रो में अबतक तो देश-विदेश के अनेक मंत्री व प्रधानमंत्री सफर करते रहे हैं, लेकिन इसके इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के लिए कोई नेता मैट्रो से शपथ ग्रहण समारोह स्थल पहुंचा हो। यही वजह है कि दिल्ली मैट्रो रेल निगम केजरीवाल के इस सफर को कैश करने की तैयारी में जुट गया है।

मैट्रो अधिकारी अब इस बात की योजना बना रहे हैं कि इस दिन के बारे में यात्रियों को बताया जाए, ताकि लोगों का रूझान मैट्रो की ओर बढ़े और लोग निजी वाहनों को छोड़ सार्वजनिक वाहन का उपयोग करें। उनका कहना है कि इससे आम यात्रियों के साथ दिल्ली व देश के अन्य अधिकारियों व मंत्रियों में मैट्रो के प्रति एक सकारात्मक संदेश जाएगा और वह इको फ्रैंडली इस सेवा का उपयोग करेंगे।

गौरतलब है कि मैट्रो जयपुर, मुंबई, कोच्चि में चल रही है, वहीं कोलकाता में इसका विस्तार शुरू हो गया है। इसके अलावा लुधियाना, चंडीगढ़, पटना समेत देश के प्रमुख 22 शहरों में इसे ले जाने की योजना प्रस्तावित है। दिल्ली मैट्रो के अधिकारी इस बात से भी खुश हैं कि केजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से पूर्व ही मैट्रो के विस्तार की मंशा जताई थी।

ऐसे में उनके मुख्यमंत्री बनने और इससे पहले मैट्रो में सफर करने से मैट्रो का बेहतर भविष्य दिख रहा है। मैट्रो अधिकारियों को पहले यह चिंता सताने लगी थी कि मैट्रो के विस्तार के प्रति काफी सहयोगी भूमिका निभा रही पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के बाद इसके भविष्य पर क्या होगा।

लेकिन अब इनका कहना है कि मैट्रो को दिल्ली में लाने का मुख्य उद्देश्य सड़कों पर ट्रैफिक लोड को कम करना था। लेकिन लोग निजी वाहनों का धड़ल्ले से प्रयोग कर रहे हैं जिससे सड़कों पर ट्रैफिक लंबा जाम लग जाता है। दिल्ली मैट्रो से घंटों का सफर मिनटों में तय किए जाने के साथ इससे पर्यावरण को भी काफी फायदा पहुंचता है। पर्यावरण संरक्षण के लिए दिल्ली मैट्रो रेल निगम को संयुक्त राष्ट्र से पुरस्कृत भी किया जा चुका है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You