पश्चिमी दिल्ली के देहात को कब मिलेगा पानी

  • पश्चिमी दिल्ली के देहात को कब मिलेगा पानी
You Are HereNcr
Wednesday, January 01, 2014-8:59 AM

नई दिल्ली (अमित कसाना): पश्चिमी व बाहरी दिल्ली के करीब 249 गांव ऐसे हैं, जहां आज भी लोग जमीन का खारा पानी पीते है। इन इलाकों में न तो पिछली सरकार ने ही कुछ काम किया और न ही इस बार की सरकार से लोगों को कोई उम्मीद है। प्रशासन पानी की पाइप लाइन यहां कब तक पहुंचाएगा, अभी इस सवाल का जवाब किसी के पास नहीं है। इस सवाल पर प्रशासन जल्द ही पाइप लाइन डालने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ता दिखाई दे रहा है।

पश्चिमी दिल्ली में अनाधिकृत कॉलानियों की बात करें तो यहां स्थित कुल 498  कॉलोनियों में कुछ कॉलोनियों में पानी की पाइप लाइन है और कईयों में पाइप लाइन अभी बिछाई जानी है। जिन कॉलोनियों में पाइप लाइन है, उनकी स्थिति काफी जर्जर है। जिसके चलते टूटी पाइपलाइनों में आसपास के सीवर का पानी मिलकर घरों तक पहुंच रहा है। कुछ जगह पानी का प्रेशर कम है तो कुछ जगहों पर केवल सुबह-शाम कुछ घंटे ही पानी आता है।

ऐसे स्थिति में गांवों में खारा पानी पीने से लोगों को स्वास्थ्य संबंधी काफी परेशानी होती है। पेट में संक्रमण, डायरिया जैसी समस्याएं यहां आम है। लोगों की मानें तो इन गांवों में या तो टैंकर पहुंचते ही नहीं हैं या फिर जहां एक्का-दुक्का टैंकर पहुंचते भी हैं, वहां पानी भरने को लेकर लोगों के बीच युद्ध जैसे हालत रहते है। पानी भरने को लेकर कई बार लोगों में मामूली झड़प भी हो चुकी है। कॉलोनियों में लोग पानी खरीदकर पीते हैं। लोगों को पानी भरने के लिए दूर-दराज के इलाकों में जाना पड़ता है। जिससे लोगों को काफी परेशानी होती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You