वीरभद्र मामले में कार्रवाई शुरू करे चुनाव आयोग

  • वीरभद्र मामले में कार्रवाई शुरू करे चुनाव आयोग
You Are HereNational
Wednesday, January 01, 2014-12:41 PM

नई दिल्ली : भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर भाजपा ने आज हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पर हमले तेज करते हुए सिंह के इस्तीफे की मांग की और चुनाव आयोग से अनुरोध किया कि वह चुनाव के दौरान हलफनामे में अपनी आय के बारे में तथ्यों को छिपाने के लिए सिंह और उनकी पत्नी के खिलाफ कारवाई शुरू करे।
 
भाजपा सांसद और भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने आज यहां मुख्य चुनाव आयुक्त वी एस संपथ से मुलाकात की और उन्हें एक ज्ञापन सौंपा जिसमें मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह के खिलाफ अपनी आय के बारे में आयोग में दाखिल किए गए शपथ पत्र में कुछ तथ्यों को छिपाने के लिए कार्रवाई किए जाने की मांग की गई है।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि वीरभद्र सिंह को तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए।  मुख्यमंत्री पद के लिए कांग्रेस को किसी और नेता का नाम तय करना चाहिए। सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार का यह पांचवां मामला है। इससे लगता है कि कांग्रेस ने उन्हें लूट की पूरी छूट दे रखी है।

ठाकुर ने कहा कि यह कांग्रेस के लिए भी परीक्षा है कि वह सिंह के खिलाफ कार्रवाई कर यह साबित करे कि वास्तव में वह भ्रष्टाचार के मुद्दे पर गंभीर है। यह राहुल गांधी को साबित करेगा कि भ्रष्टाचार पर वह जो कह रहे हैं उसका कोई मतलब है भी या नहीं।

उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग को दिए गए ज्ञापन में मुख्य चुनाव आयुक्त से मांग की गई है कि पिछले विधानसभा और मंडी लोकसभा उपचुनाव के दौरान दाखिल किए गए वीरभद्र और उनकी पत्नी के शपथपत्रों में कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों को छिपाने के लिए उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू की जाए।

ठाकुर ने कहा कि भाजपा ने मुख्य चुनाव आयुक्त से नियमों के मुताबिक सिंह और उनकी पत्नी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने आरोप लगाया कि सिंह ने आयोग के समक्ष दाखिल किए गए शपथपत्र में बिजली कंपनी के प्रवर्तक से प्राप्त धन का उल्लेख नहीं किया है ।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You