कल विश्वास मत हासिल कर सकती है ‘आप’ की सरकार

  • कल विश्वास मत हासिल कर सकती है ‘आप’ की सरकार
You Are HereNational
Wednesday, January 01, 2014-3:29 PM

नई दिल्ली (अशोक शर्मा): पांचवीं विधानसभा का सात दिवसीय सत्र बुधवार से शुरू हो गया। पहले दिन सभी सदस्यों ने शपथ ग्रहण की। वीरवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार सदन में विश्वास मत हासिल कर लेगी इसकी पूरी संभावना जताई जा रही है।

मुख्यमंत्री केजरीवाल बेशक यह दुहाई दे रहे हैं कि मेरे पास महत्वपूर्ण कार्य करने के लिए सिर्फ 48 घंटे हैं, लेकिन कांग्रेस की आप सरकार को सहयोग देने की पूर्व घोषणा को देखते हुए उन्हें बहुमत मत हासिल करने में आप को कोई परेशानी नहीं होने वाली।

कांग्रेस ने अपने 8 विधायकों से आप को समर्थन देने के लिए लिखकर दिया है, लेकिन स्पीकर के चुनाव में कांग्रेस के केवल 7 विधायक ही मतदान कर सकेंगे। विधानसभा के सचिव पी.एन. मिश्रा ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि यदि मतदान के दौरान टाई यानी बराबरी होने की नौबत आ गई, तो उस हालात में प्रोटेम स्पीकर को मताधिकार का प्रयोग करने का अधिकार होगा। और उनका वोट आप के लिए जीवनदायिनी साबित होगी।

70 सदस्यीय विधानसभा में आप के 28 विधायक हैं जो बहुमत से आठ कम है। आप को कांग्रेस के विधायकों का समर्थन प्राप्त है। लेकिन प्रोटेम बनने के कांग्रेस के मतीन अहमद बहुमत हासिल के दौरान अपना वोट नहीं डाल सकेंगे।

लेकिन जेडीयू के एक विधायक शोएब इकबाल का समर्थन मिलने से कुल विधायकों की संख्या 36 को छू जाएगी। दूसरी ओर भाजपा व शिअद के 32 विधायक हैं जिन्हें निर्दलीय विधायक का समर्थन मिल सकता है। उसके पास कुल विधायकों की संख्या 33 हो सकती है। इसे देखते हुए आप सरकार के लिए चिंता की कोई बात नहीं है।

दरअसल  केजरीवाल और उनकी सरकार के मंत्रियों को अभी तक यही डर सता रहा है कि कांग्रेस बहुमत को लेकर सदन में क्या खेल कर दे, इसका पता नहीं। इसलिए उन्हें सरकार गिरने की चिंता बनी हुई है। उन्हें लगता है कि यदि कांग्रेस के कुछ विधायक बहुमत के दौरान सदन से उठकर बाहर चले गए, तो विपक्षी दल भाजपा का पलड़ा भारी होने पर सरकार का गिरना तय है।

हालांकि केजरीवाल ने मंगलवार को कहा था कि उनके पास केवल 48 घंटे हंै इसीलिए वह जनहित में ज्यादा से ज्यादा महत्वपूर्ण कार्य कर अपने वादे को पूरा करना चाहते हैं। विश्वासमत हासिल करने के बाद सदन में विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव 3 जनवरी को होगा।  उपराज्यपाल नजीब जंग 6 जनवरी को सदन में अभिभाषण देंगे और 7 जनवरी को जंग के अभिभाषण पर चर्चा होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You