मेरा विरोध गाड़ी पर चलने से नहीं लाल बत्ती से था: केजरीवाल

  • मेरा विरोध गाड़ी पर चलने से नहीं लाल बत्ती से था: केजरीवाल
You Are HereNational
Friday, January 03, 2014-10:33 PM

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने आज कहा कि वह भ्रष्टाचार के खिलाफ इस लड़ाई को राजधानी से निकालकर पूरे देश में ले जाना चाहते हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मैंने ऐसा कभी नहीं कहा कि कोई भी सरकार गाड़ी का इस्तेमाल नहीं करेगा।

उन्होंने कहा कि मैंने गाड़ी पर लाल बत्ती लगाने का विरोध किया था। शुक्रवार को मुख्यमंत्री सचिवालय में सफेद रंग की चमचमाती इनोवा कार से सचिवालय पहुंचे। उनसे कुछ देर पहले ही दिल्ली के परिवहन मंत्री सौरभ भारद्वाज भी इसी तरह की ब्रांड न्यू इनोवा कार में बैठकर सचिवालय पहुंचे।

 उसके बाद महिला एवं बाल कल्याण मंत्री राखी बिड़ला भी इसी तरह की सरकारी कार में सवार होकर सचिवालय पहुंची। मंत्रियों के सरकारी कार में घूमने के संबंध में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि मैंने कभी नहीं कहा कि कोई सरकारी कार का इस्तेमाल नहीं करेगा । मेरा विरोध उसपर लगी लाल बत्ती से था।

मुख्यमंत्री कुछ भी कहें लेकिन उन्होंने अपनी विरोधी दल भाजपा ही नहीं बल्कि सहयोगी दल कांग्रेस को भी आप पर हमला करने का मौका दे दिया है। भाजपा विधायक दल के नेता डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि अभी तो दिल्ली सरकार के मंत्रियों ने कार ही ली हैं, कुछ दिन बाद सभी मंत्री बंगले भी ले लेंगे।

उन्होंने कहा कि जब केजरीवाल ने शुरू में ही कह दिया था, कि वह अपनी नीले रंग की निजी कार में बैठकर ही कार्यालय आएंगे और जाएंगे, तो अब किस नैतिकता के आधार पर वह सरकारी गाड़ी का उपयोग कर रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष व विधायक अरविंदर सिंह लवली ने इस सम्बंध में कहा कि केजरीवाल सरकारी गाड़ी का इस्तेमाल करें या नहीं, वह सरकारी बंगले में रहे या नहीं, यह उनका व्यक्तिगत मामला है।

दूसरी ओर प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष गोस्वामी एस.के.पुरी ने कहा है कि गाड़ी और बंगला लेने के बाद अब आप के नेताओं की पोल खुलनी शुरू हो गई है। केजरीवाल ने कहा दिल्ली की जनता ने हमें अवसर दिया है और हम भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रखेंगे । हमें लोकपाल विधेयक और स्वराज विधेयक पारित करना है ।     

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You