दिल्ली के भगवानदास रोड पर होगा केजरीवाल का बंगला

  • दिल्ली के भगवानदास रोड पर होगा केजरीवाल का बंगला
You Are HereNational
Friday, January 03, 2014-10:43 PM

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अब जल्द ही अपने गाजियाबाद के कौशांबी स्थित निवास से दिल्ली के लुटियंस जोन में आ रहे हैं। उन्हें अलॉट होने वाले भगवान दास रोड स्थित दो बंगलों पर तेजी से काम चल रहा है।

मुख्यमंत्री केजरीवाल को यहां दो फ्लैट अलॉट किए गए हैं, वह है भगवान दास रोड स्थित फ्लैट नंबर-7/6 और 7/7 है। डीडीए के इस 10 कमरे के सरकारी फ्लैट में तेजी से काम चल रहा है। 9 हजार वर्गफुट जमीन पर बने इस मकान में पांच-पांच कमरे के दो फ्लैट हैं।

दोनों फ्लैटों की दीवार को तोड़कर एक कर दिया गया है। इन दो बंगलों के पीछे छह हजार वर्गफुट में कारपेट एरिया है, जबकि तीन हजार वर्ग फुट में लॉन है। फ्लैट नंबर 7/6 में आप कार्यालय होगा, जहां से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आप का कामकाज देखेंगे। जबकि 7/7 में वह अपने परिवार के सदस्यों के साथ रहेंगे। अभी केजरीवाल गाजियाबाद के कौशांबी स्थित गिरनार अपार्टमेंट में अपने माता-पिता, पत्नी व बच्चों के साथ रह रहे हैं।

सरकारी अधिकारियों ने केजरीवाल को मुख्यमंत्री आवास में जाकर रहने की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने इंकार करते हुए कहा था कि वह सरकारी बंगले में नहीं रहेंगे और न ही सुरक्षा लेंगे। इसके साथ ही वह नहीं चाहते कि वीआईपी कल्चर को आगे और बढ़ावा दें।

लेकिन इसके बावजूद उन्हें सरकारी आवास और त्रिस्तरीय उच्च कोटि की सुरक्षा उपलब्ध कराई जा रही है। केजरीवाल राजनीति में वीआइपी संस्कृति को खत्म करने के हिमायती हैं। इस बाबत जब केजरीवाल से पूछा गया कि पहले तो आप सरकारी फ्लैट में रहने का विरोध करते थे, अब दस कमरों वाले सरकारी मकान में रहेंगे। इसपर मुख्यमंत्री ने कहा कि दस कमरों वाला नहीं बल्कि वह पांच-पांच कमरों वाले दो फ्लैट हैं। एक फ्लैट में कार्यालय और दूसरे फ्लैट में मैं और मेरा परिवार रहेगा। परिवार में मेरे माता-पिता भी शामिल हैं।

उधर भाजपा के विधायक नरेश गौड़ ने कहा कि केजरीवाल की शुरुआत से ही कथनी और करनी में अंतर रहा है। वह कहते कुछ हैं और करते कुछ हैं। उनका काम केवल जनता को भ्रमित करना है। पहले मुख्यमंत्री ने कहा था कि वह सरकारी गाड़ी का उपयोग नहीं करेंगे और न ही सरकारी बंगले में जाकर रहेंगे, लेकिन शुक्रवार को वह सचिवालय में एक नम्बर की सरकारी गाड़ी में बैठकर पहुंचे। इतना ही नहीं अब वह जल्द ही सरकारी बंगले में भी जाकर रहने लगेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You