रेप व छेडख़ानी से दागदार हुई दिल्ली

  • रेप व छेडख़ानी से दागदार हुई दिल्ली
You Are HereNational
Friday, January 03, 2014-11:03 PM

नई दिल्ली (कुणाल सिंह): रेप व छेडख़ानी ने एक बार फिर दिल्ली को दागदार कर दिया। दिल्ली पुलिस की आंकड़ों की माने तो दिल्ली में रेप के मामले में 130 फीसदी और छेडख़ानी के मामले में 412 फीसदी का इजाफा हुआ है।  2013 में रेप के 1559 एफआईआर दर्ज किए गए जबकि 2012 में यह आंकड़ा 680 था। छेडख़ानी की बात करे तो 2013 में करीब छेडख़ानी के 3347 मामले दर्ज हुए हैं। जबकि 2012 में यह आंकड़ा 653 था।

दिल्ली पुलिस के मुखिया और पुलिस कमिश्नर बी.एस.बस्सी के मुताबिक रेप व छेडख़ानी में सबसे ज्यादा पीड़िता के करीबी रहे है। करीब 96 फीसदी आरोपी रिश्तेदार व जान पहचान के है। सिर्फ चार फीसदी बाहरी लोग है। दिल्ली पुलिस की माने तो रेप के करीब 90 फीसदी जबकि छेडख़ानी के करीब 87 फीसदी मामले सुलझाएं है। 2013 में शादी का झांसा देकर रेप करने के 265 मामले दर्ज हुए है।

दिल्ली पुलिस के आंकड़े के अनुसार 1347 रेप के वारदात को घर व झुग्गियों में अंजाम दिया गया। जबकि छेडख़ानी की सबसे ज्यादा वारदातें घर व सड़कों पर ही हुईं। छेडख़ानी के 1445 केस घरों व झुग्गियों में और 1204 मामले रोड पर हुए। वहीं रेप की बात करें तो घर के बाद होटल व रेस्टोरेंट में 52 पार्क में 25 वाहन के अंदर 30 और अन्य जगहों पर 105 वारदातों को अंजाम दिया गया। इसके अलावा होटल, स्कूल, बस स्टैंड, अस्पताल,प्लेटफार्म और अन्य जगहें है।

दिल्ली  में छेडख़ानी के कुल 3347 मामले दर्ज हुए थे। उसमें से दिल्ली पुलिस ने 2905 मामले दिल्ली पुलिस ने सुलझा लिए हैं। दिल्ली पुलिस के अनुसार रेप के करीब 72 फीसदी मामले एक सप्ताह के अंदर सुलझा लिए गए। वहीं छेडख़ानी के 78 फीसदी मामले हफ्ते भर में सुलझाए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You