Subscribe Now!

मैं टूट गया हूं, भगवान सबका भला करे: आसाराम

  • मैं टूट गया हूं, भगवान सबका भला करे: आसाराम
You Are HereNational
Saturday, January 04, 2014-9:27 AM

जोधपुर: नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीडऩ के आरोपी आसाराम को गुरुवार को कोर्ट में पेश करने के लिए लाया गया। वहां बैरक में आसाराम की तबीयत बिगड़ गई। इस पर पुलिस अधिकारी पेशी से पहले दोपहर डेढ़ बजे पुन: जेल अस्पताल ले गए।

प्राथमिक उपचार के बाद करीब अढ़ाई बजे आसाराम को पुन: कोर्ट लाया गया। इस दौरान अन्य आरोपियों को बैरक में ही रखा गया। आसाराम ने कोर्ट में फिर से लाए जाने पर जज से हाथ जोड़ कर कहा, ‘‘  मैं टूट गया हूं,  मेरी तबीयत ठीक नहीं है और मुझसे खड़ा नहीं रहा जाता। भगवान सबका भला करे।’’
 
इस पर आसाराम को कुर्सी पर बैठने की इजाजत दी गई। बाद में बचाव पक्ष के वकील के हस्तक्षेप करने पर अदालत ने अगली सुनवाई सोमवार को तय की, जबकि शुक्रवार को होने वाली पेशी आसाराम की अनुपस्थिति में ही होगी। 
 
उधर आसाराम के वकीलों ने गुरुवार को उनकी तबीयत खराब होने के बाद जेल अस्पताल में उपचार दिलाए जाने और फि र दोबारा अदालत लाए जाने पर सैशन न्यायाधीश (जोधपुर जिला) मनोज कुमार व्यास के समक्ष कहा कि आसाराम की वृद्धावस्था के मद्देनजर उन्हें रोज इस तरह पेशी पर लाया जाना उचित नहीं है।  
 
घटनास्थल विजिट की सीडी नहीं दी: गुरुवार को अभियोजन पक्ष की ओर से घटनास्थल विजिट की सीडी दी जानी थी,  लेकिन लोक अभियोजक राजूलाल मीणा ने कहा कि उनको गुरुवार को ही यह आदेश मिला है, इसलिए वे शुक्रवार को इसका जवाब पेश करेंगे। हालांकि शुक्रवार को आसाराम को पेशी पर नहीं लाया जाएगा, लेकिन दोनों पक्षों के वकील बहस करेंगे।
 
समर्थकों ने की जीप रोकने की कोशिश:  जब आसाराम व अन्य आरोपियों को जीप से जेल ले जाया जा रहा था,  तब कोर्ट के बाहर खड़े आसाराम के समर्थकों ने जीप रोकने का प्रयास किया। पुलिस जवानों ने उन्हें रोका। कई समर्थकों ने उस रास्ते पर दंडवत प्रणाम किया जहां से आसाराम को ले जाया गया। यहां आसाराम समर्थकों की वकीलों व पुलिस वालों से झड़प भी हो गई।
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You