केजरीवाल का सरकारी बंगला लेने से इनकार कहा, इससे भी छोटा घर ढूंढ़े

You Are HereNational
Saturday, January 04, 2014-12:24 PM

नई दिल्ली: आलोचना का सामना कर रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने आज घोषणा की कि उन्होंने खुद को आवंटित पांच शयनकक्षों वाले दो डुपलेक्स फ्लैट नहीं लेने का फैसला किया है। केजरीवाल ने मीडिया को बताया कि उन्होंने सरकार से उनके लिए छोटा आवास ढूंढऩे को कहा था। उन्होंने पार्टी की रणनीति की बैठक में कहा, ‘‘कल से मेरे मित्र, समर्थक मुझे फोन कर रहे हैं और संदेश भेज रहे हैं कि मुझे पांच शयनकक्षों वाले फ्लैट में नहीं जाना चाहिए । इसलिए, मैंने उन्हें छोडऩे का फैसला किया है।

मैं सरकार से अपने लिए छोटा आवास ढूंढऩे को कह रहा हूं।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि तब तक वह अपने गाजियाबाद स्थित घर से काम करेंगे। केजरीवाल को भगवान दास रोड पर पांच शयनकक्षों वाले दो डुप्लेक्स फ्लैट आंवटित किए गए हैं जिनमें से एक का इस्तेमाल उनके कार्यालय के रूप में किया जाना है। आम आदमी पार्टी की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए भाजपा सहित उनके विरोधियों ने केजरीवाल पर फ्लैट लेने के लिए हमला बोला था।

बड़ा अपार्टमेंट चुनने के लिए हुई आलोचना के बारे में पूछे जाने पर केजरीवाल ने कहा, ‘‘यह असल में महत्वपूर्ण है । हम गंदी राजनीति को साफ करने आए हैं । हमें सीजर की पत्नी की तरह संदेह से परे होना चाहिए और हमें खुद की समीक्षा के लिए अपने को खुला रखना चाहिए।’’ दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कल कहा था, ‘‘मुझे दो अलग अलग मकान दिए गए हैं, प्रत्येक में पांच...पांच शयनकक्ष हैं। आप अपना कैमरा ले जा सकते हैं और मकानों की जांच कर सकते हैं। इनमें से एक में मैं अपने परिवार के साथ रहूंगा, जबकि दूसरे का इस्तेमाल अपने कार्यालय के रूप में करूंगा जहां हम देर तक काम कर सकें।’’

उन्होंने कहा था, ‘‘अब मैं अपने परिवार के साथ पांच शयनकक्षों वाले मकान में रहूंगा। पूर्व में, मैं चार शयनकक्षों वाले अपार्टमेंट में रह रहा था, बस यही फर्क है।’’  केजरीवाल ने कहा कि पार्टी आज लोकसभा चुनावों की रणनीति पर चर्चा करेगी, लेकिन उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की संभावना से इनकार किया। यह पूछे जाने पर कि क्या आज किसी बड़ी घोषणा की उम्मीद है, केजरीवाल ने कहा कि आज वह पहले ही एक घोषणा कर चुके हैं।

केजरीवाल कौशांबी में एक सोसायटी फ्लैट में रह रहे हैं। उन्होंने टाइप-सात बंगले में जाने से इनकार कर दिया था जिसके लिए वह मुख्यमंत्री के रूप में बाद हकदार हैं। उनकी टीम ने इंद्रप्रस्थ एक्सटेंशन के आसपास दिल्ली सचिवालय के नजदीक कई सरकारी फ्लैटों को देखने के बाद भगवान दास रोड पर दो फ्लैटों को चुना था। दिल्ली सरकार के मंत्री तीन शयनकक्षों के साथ टाइप-6 और टाइप-7 बंगला लेने के हकदार हैं। शीला दीक्षित 2003 से दिल्ली के लुटियंस इलाके में 3, मोतीलाल नेहरू मार्ग स्थित टाइप-8 बंगले में रह रही हैं।
 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You