घटिया कोयला आपूर्ति मामले में दो एफआईआर दर्ज

  • घटिया कोयला आपूर्ति मामले में दो एफआईआर दर्ज
You Are HereNcr
Saturday, January 04, 2014-8:06 PM

नई दिल्ली : नेशनल थर्मल पॉवर कारपोरेशन (एनटीपीसी) और एनटीपीसी सेल पॉवर कारपोरेशन लिमिटेड (एनएसपीसीएल) को इंडोनेशिया से कथित तौर पर घटिया कोयले की आपूर्ति मामले में सीबीआई ने दो मामले दर्ज किए हैं।

ठगी और जालसाजी के इस कारनामे से कंपनियों को 116.07 करोड़ रुपए का नुकसान होने का अनुमान है। पहले मामले में सीबीआई ने एनटीपीसी पॉवर प्लांट लैब, अतिरिक्त महाप्रबंधक ए.के. श्रीवास्तव, उप महाप्रबंधक उमा शंकर वर्मा और इंदौर स्थित भाटिया इंटरनेशनल जिसे वर्तमान में एशियन नैचुरल रिसोर्सेज लिमिटेड के नाम से जाना जाता है, के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

इस मामले में एनटीपीसी को 23.16 रुपए का नुकसान हुआ है। एजेंसी ने सार्वजनिक उपक्रमों को ठगने की कथित साजिश मामले में कुछ अंतरराष्ट्रीय कंपनियों का नाम भी शामिल किया है। सिंगापुर स्थित भाटिया इंटरनेशनल प्रा. लि., जकार्ता की पीटी मित्रा, एस.के. अनालिसा तेस्तामा, कोलकाता स्थित भारतीय अनुषंगी एस.के. मित्रा प्रा. लिमिटेड और इसके केमिस्ट चंद्र प्रकाश यादव का नाम इसमें शामिल है।

बहरहाल, इस संबंध में कंपनियों से उनकी प्रतिक्रिया जानने के लिए भेजे गए ई-मेल का कोई जवाब नहीं मिला।  इस मामले में लिप्त कंपनियों ने एनएसपीसीएल विद्युत संयंत्र के लिए भी यही तरीका अपनाया और उसके साथ 92.91 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की।

इस मामले में सीबीआई ने भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत एनएसपीसीएल पॉवर प्लांट लैब, भिलाई के प्रमुख वरिष्ठ प्रबंधक पी.सी. गुप्ता, लैबोरेटरी में केमिस्ट ए.वी. रमेश और मुंबई स्थित जियोकैम प्रा. लैबोरेटरीज के शाखा प्रमुख के खिलाफ ठगी की आपराधिक साजिश रचने का मामला दर्ज किया है।

कुछ ही देर बाद सीबीआई ने एफआईआर में शामिल एनटीपीसी और एनएसपीसीएल अधिकारियों के घर और दफ्तरों पर छापे मारे और जांच पड़ताल की। भाटिया इंटरनेशनल और ग्रोकैम के परिसरों में भी छापे मारे गए।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You