रामदेव पर भी छाया केजरीवाल का जादू ? गिना दी मोदी को शर्तें

  • रामदेव पर भी छाया केजरीवाल का जादू ? गिना दी मोदी को शर्तें
You Are HereNational
Sunday, January 05, 2014-12:25 AM

नई दिल्ली: किसी समय में नमो नमो का जाप करने वाले बाबा रामदेव अचानक आज क्यों बदले? क्यों उन्होंने नमो के सामने शर्तें राखी ? राजनीतिक जानकार मानते है यह अरविंद केजरीवाल का जादू है, जो रामदेव के सर चढकर बोल रहा है। बाबा की शर्तें सबसे बड़ा सवाल ये खड़ा करती हैं कि क्या बाबा केजरीवाल के नक़्शे कदम पर चल कर खुद को आम लोगों का रहनुमा साबित करने की कोशिश में लगे हैं ?

जहिर है दिल्ली में चले केजरीवाल के जादू ने भाजपा के फायर ब्रांड नेता नरेंद्र मोदी की लहर को शांत सा कर दिया है। मोदी का समर्थन या यूं कह लीजिए की मोदी का गुणगान करने वाले बाबा रामदेव के सुर आजकल कुछ बदले-बदले से दिखाई दे रहे हैं। जिस समय देश में मोदी की लहर पूरे देश में गूंज रही थी तो रामदेव की तरफ से भी पुरजोर सर्मथन मिल रहा था। लेकिन जैसे ही केजरीवाल का सिक्का चला तो रामदेव का मोदी को समर्थन भी शर्तों की नींव पर आकर खड़ा हो गया।

उन्होंने तो यहां तक भी कह दिया कि अगर मोदी उनकी शर्तों को नहीं मानते या उन शर्तों को मानने की बात का सर्वजनिक तौर पर ऐलान नहीं करते तो उनका समर्थन मोदी को नहीं होगा। काबिले गौर हो कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी द्वारा 28 सीट लेने पर रामदेव ने कहा था कि अगर वह भी केजरीवाल के साथ होते तो आप 28 नहीं 36 सीट हासिल करती। रामदेव की इस बात से उनकी मंशा का अंदाजा तो लगभग हो ही जाता है। ज्ञातव्य है कि केजरीवाल और उनकी टीम ने हमेशा शर्तों और वादों की भाषा में बात करते हैं और शायद इन्हीं शर्तों और वादों से बाबा रामदेव आजकल प्रभावित दिखाई दे रहे हैं।

तो क्या सच में रामदेव केजरीवाल के नक्शे कदम पर चलकर खुद को आम लोगों का रहनुमा साबित करने की कोशिश में हैं। बाबा रामदेव मोदी के समक्ष जो शर्तों का मकड़जाल बुनते दिखाई दे रहे हैं उससे कई सवाल ज़हन में आते है कि क्या रामदेव केजरीवाल की पार्टी में जाने की फिराक में हैं या फिर वह अपने चौथे मोर्चे के साथ देश की सियासत में कदम रखने वाले हैं।  

Edited by:Vikas kumar

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You