दिल्ली विश्वविद्यालय : आम आदमी से छीनी कुर्सी

  • दिल्ली विश्वविद्यालय : आम आदमी से छीनी कुर्सी
You Are HereNational
Sunday, January 05, 2014-12:40 AM

नई दिल्ली : दिल्ली की सत्ता पर आम आदमी (आम आदमी पार्टी) ने जहां अपनी उपस्थिती दर्ज करा ली है वहीं दूसरी ओर दिल्ली विश्वविद्यालय में आम आदमी की कुर्सी और मेज उससे छिन ली गई है।

वी.सी. ने डी.यू. के सभी गार्डस को खड़े होकर ड्यूटी करने का आदेश दिया है। जिसके बाद गार्डस की कुर्सी और मेज उनसे वापस ले ली गई है। वीसी के आदेश के विरोध में शनिवार को दिल्ली विश्वविद्यालय टीचर्स एसोसिएशन (डूटा) ने वीसी के खिलाफ धरना दिया।

धरने की विशेषता यह थी कि यह धरना डूटा ने लगातार 12 घंटे तक खड़े होकर दिया। खबर लिखे जाने तक धरना जारी था। डूटा ने डी.यू. के वाइस चांसलर (वी.सी.) द्वारा बनाए नियमों का खुलकर विरोध शुरू कर दिया है। दिल्ली विश्वविद्यालय के नार्थ कैम्पस में डूटा ने अपनी तीन मांगों को लेकर 12 घंटे लगातार खड़े होकर धरना दिया।

डूटा की मांगा है कि वाइस चांसलर ने जो आदेश दिए है, वह बिल्कुल गलत है। वाइस चांसलर अपने आदेश तुरंत वापस ले। डूटा ने वी.सी. के इन आदेशों के वापस नहीं लिए जाने तक लड़ाई जारी रखने का निर्णय लिया है। डूटा अध्यक्ष डॉ.नंदिता नरैन का कहना है कि डीयू प्रशासन ने सुरक्षा गार्ड की कुॢसयों को हटा दिया गया है।

अब उन्हें खड़े होकर अपनी ड्यूटी करनी पड़ रही हैं, उन्हें फिर से कुॢसयां दी जाए, जिससे वह बैठकर अपनी ड्यूटी कर सके। डूटा की दूसरी मांग पंडित जी के ढ़ाबे को अगर हटाया जा रहा है, तो इसके एवज में उन्हें कुछ राशि दी जाए जिससे वह अपना काम फिर से कहीं शुरू कर सकें।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You