मोदी के रथ को रोकने के लिए ‘आप’ और कांग्रेस में फिक्सिंग

  • मोदी के रथ को रोकने के लिए ‘आप’ और कांग्रेस में फिक्सिंग
You Are HereNational
Sunday, January 05, 2014-8:42 AM

नई दिल्ली : भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी के रथ को रोकने के लिए कांग्रेस और नवगठित आम आदमी पार्टी के बीच ‘मैच फिक्सिंग’ है। यही कारण है कि कांग्रेस पार्टी एवं खुद केंद्र की सरकार मोदी को रोकने के लिए आप को अपनी बी टीम के तौर पर इस्तेमाल कर रही है।

भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि इसका खुलासा भी धीरे-धीरे हो रहा है। भाजपा के प्रवक्ता एवं सांसद सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि कांग्रेस में खुद की ताकत पर मोदी से लोहा लेने या उनकी बातों का जवाब देने की कुव्वत नहीं है। यही कारण है कि उसने आम आदमी पार्टी से गठबंधन किया है।

देश में ‘आप’ के बढ़ते प्रभाव से कथित रूप से चिंतित भाजपा ने अरविंद केजरीवाल की पार्टी को खारिज करते हुए कहा कि यह कुलीन लोगों की पार्टी है, न कि आम आदमी की।शाहनवाज ने आप को भाजपा के लिए खतरा बनने के दावों को खारिज करते हुए कहा कि जनता का तेजी से आप से विश्वास उठता जा रहा है। उसके प्रति जनता की सोच दिनों नहीं बल्कि घंटों के हिसाब से बदल रही हैै।

कांग्रेस और आप के बीच सांठगांठ का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले केजरीवाल कहते रहे थे कि वह भ्रष्टाचार के आरोपों में शीला दीक्षित को हथकड़ी लगवाएंगे, लेकिन स्वयं मुख्यमंत्री बनने के बाद से वह इस बारे में चुप्पी साधे हुए हैं। शाहनवाज ने कहा कि सपना देखना सबका अधिकार है।

राहुल को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री ने की प्रैस वार्ता
भारतीय जनता पार्टी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से सवाल किया कि लोकसभा चुनाव से पहले उनकी कल हुई आखिरी प्रैस कांफ्रैंस देश को अपने कार्यकाल का जवाब देने के लिए थी या फिर राहुल गांधी के वास्ते इस पद का सुरक्षित रास्ता बनाने के लिए।

पार्टी के प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने यहां कहा कि सिंह ने संवाददाता सम्मेलन में अगले आम चुनाव के बाद खुद को प्रधानमंत्री पद के लिए उपलब्ध नहीं होने और इस पद के लिए राहुल को ‘अपार क्षमताओं’ वाला व्यक्ति बताते हुए नेहरू-गांधी परिवार के इस वारिस को देश का शीर्ष राजनीतिक पद दिए जाने के प्रयासों को आगे बढ़ाया है।

 भाजपा नेता ने सवाल किया कि प्रधानमंत्री के रूप मेें दो कार्यकाल पूरा करने जा रहे सिंह ने इन लगभग दस सालों का हिसाब देने की गरज़ से प्रैस वार्ता बुलाई थी या जल्द ही होने जा रही कांग्रेस महासमिति की बैठक में राहुल के लिए सुरक्षित रास्ता बनाने के इरादे से।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You