फिल्म देखकर विशेष ट्रेनिंग ले रही पुलिस

  • फिल्म देखकर विशेष  ट्रेनिंग ले रही पुलिस
You Are HereNational
Sunday, January 05, 2014-4:09 PM

नई दिल्ली (सतेन्द्र त्रिपाठी): दिल्ली पुलिस की ट्रेनिंग अब हाईटैक हो चली है। बेरीकेडिंग पर जांच के दौरान जाम नहीं लगे और बदमाश भी निकलकर न जाने पाएं, ऐसी व्यवस्था लागू हो सके, इसके लिए पुलिस ने एक फिल्म बनाई है। इस फिल्म को हाईटैक ट्रेनिंग में दिखाया जा रहा है।

फोरैंसिक साइंस, साइबर क्राइम व कम्प्यूटर फंडामैंटल जैसे आधुनिक कोर्स भी ट्रेनिंग में शामिल किए गए हैं। इसके साथ कंमाडो ट्रेनिंग दिल्ली और राजस्थान में दिलाई जा रही है। लगभग 350 स्पैशलाइज्ड कोर्स ट्रेनिंग में पढ़ाए जा रहे हैं। वसंत विहार कांड (निर्भया रेप केस) में जिस तरह से घटनाक्रम रहे और पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया, उसे भी पुलिस ट्रेनिंग के कोर्स में रखा गया है।

दिल्ली पुलिस में मॉडर्न पुलिस ट्रेनिंग स्कूल बिल्डिंग के लिए खासतौर पर 257.5 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए। यह बिल्डिंग ट्रेनिंग के मकसद से बनाई जाएगी और बेहद हाईटैक होगी। पुलिस ट्रेनिंग से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि जब साइबर क्राइम व आंतकवादी, ठग हाईटैक तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं तो ऐसे में पुलिस को उन्हें पकडऩे के लिए उनसे ज्यादा हाईटैक होना पड़ेगा।

इसी क्रम में पुलिस को अत्याधुनिक हथियारों की ट्रेनिंग भी खासतौर पर दी जा रही है। नए सब इंस्पैक्टरों के लिए कंमाडो ट्रेनिंग अनिवार्य कर दी गई है। इन्हें 3 महीने की ट्रेनिंग दी जा रही है। इतना ही नहीं सिपाहियों को भी 3 महीने का कंमाडो कोर्स कराया जा रहा है। एडवांस कंमाडो ट्रेनिंग के लिए जवानों को राजस्थान पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज जोधपुर भी भेजा गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You