नरेन्द्र मोदी ने कराधान प्रणाली की समीक्षा का किया वायदा किया

  • नरेन्द्र मोदी ने कराधान प्रणाली की समीक्षा का किया वायदा किया
You Are HereNational
Sunday, January 05, 2014-11:09 PM

नई दिल्ली: भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने आज देश के कराधान प्रणाली की समीक्षा और सुधार करने का वायदा करते हुए कहा कि वर्तमान ढांचा आम लोगों के जीवन पर बोझ है और इसमें बदलाव समय की जरूरत है। मोदी ने कहा, वर्तमान कर प्रणाली आम लोगों पर बोझ बन गई है। इसके कारण नौकरशाही नियंत्रण हुआ है। इसमें सुधार की जरूरत है और एक नई व्यवस्था पेश किये जाने की जरूरत है। यह समय की जरूरत है।

योगगुरू रामदेव की ओर से यहां आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, भाजपा में इस विषय पर गंभीरता से विचार हो रहा है। भाजपा के लोग विशेषज्ञों के साथ चर्चा कर रहे हैं। सरसरी तौर पर कुछ समस्याएं नजर आती है, हम इन पर ध्यान देंगे और समाधान निकालेंगे। योगगुरू ने सभी तरह के कर को समाप्त कर एक एकल कर व्यवस्था पेश करने का सुझाव दिया है जो बैंक लेनदेन कर के रूप में हो।

उन्होंने भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार से इस विषय पर रूख स्पष्ट करने की मांग की थी। मोदी की इस टिप्पणी को महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि भाजपा कुछ समय से अपनी आंतरिक बैठकों में करों को समाप्त करने पर चर्चा करती रही है। नितिन गडकरी ने भी कहा था कि पार्टी आयकर, ब्रिकी कर, आबकारी कर को समाप्त करने के प्रस्ताव को दृष्टि पत्र में शामिल करने पर विचार कर रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You