बजट सत्र के दौरान मंदिर विधेयक पेश करने की कोशिश करेंगे : उमर

  • बजट सत्र के दौरान मंदिर विधेयक पेश करने की कोशिश करेंगे : उमर
You Are HereNational
Monday, January 06, 2014-10:01 AM

जम्मू: जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने आज कहा कि अगर ज्यादातर कश्मीरी पंडित घाटी में मंदिरों और दरगाहों की सुरक्षा के लिए विधेयक चाहते हैं तो विधानसभा के बजट सत्र के दौरान संबंधित विधेयक पेश करने की कोशिश की जाएगी। उन्होंने कहा कि विधेयक पर आम सहमति बनना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि वह सदन में विधेयक पेश करेंगे और देखेंगे कि कौन इसके पक्ष में हैं और कौन विरोध में।

उमर ने यहां एक समारोह में कश्मीरी पंडितों से कहा ‘‘हमने हमेशा बहुमत के नजरिये को ध्यान में रखा है। अगर ज्यादातर कश्मीरी पंडित सोचते हैं कि इस विधेयक को पारित किया जाना चाहिए तो हम विधानसभा के बजट सत्र के दौरान इसे लाने की कोशिश करेंगे और देखेंगे कि कौन किस तरफ है। अपने सदस्यों से मैं बात करूंगा और यह मेरी प्रतिबद्धता है।’’ कश्मीरी पंडितों के कई संगठनों का एक गुट ‘‘ऑल पार्टी माइग्रेन्ट कोऑर्डिनेशन कमेटी’’ (एपीएमसीसी) और प्रेमनाथ भट ट्रस्ट घाटी में मंदिरों और दरगाहों की सुरक्षा की खातिर इस विधेयक के लिए प्रचार कर रहा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You