मंहगाई और भ्रष्टाचार के मुद्दे होने लगे हैं AAP के एजेंडा से गायब

  • मंहगाई और भ्रष्टाचार के मुद्दे होने लगे हैं AAP के एजेंडा से गायब
You Are HereNational
Monday, January 06, 2014-3:46 PM

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा के चुनाव में महंगाई और भ्रष्टाचार से निपटने के बड़े-बड़े वादे करने वाली आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार के एजेंडा से अब यह नादरद होते नजर आने लगे हैं और उपराज्यपाल नजीब जंग के अभिभाषण में केवल भ्रष्टाचार का उल्लेख मात्र है।

 
दिल्ली की पांचवी विधानसभा के पहले सत्र को आज यहां संबोधित करते हुए जंग के 11 पन्नों के अभिभाषण में महंगाई और यमुना नदी की सफाई का कोई जिक्र नहीं है। अभिभाषण में भ्रष्टाचार का उल्लेख करते हुए कहा गया है कि सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार समाप्त करने के सभी उपाय करेंगे। लोकपाल विधेयक का वह प्रारुप पारित करना मेरी सरकार की प्राथमिकता होगी जिसके लिए अन्ना हजारे ने अनशन किया था।
 
उपराज्यपाल के महज 11 मिनट के अभिभाषण में आप के उन 17 मुद्दों में से कुछ का जिक्र है जिसे उसने चुनाव के समय कांग्रेस और भाजपा के समक्ष समर्थन के लिए उठाया था।
 
उपराज्यपाल  ने कहा कि दिल्ली में बिजली कंपनियों के निजीकरण के समय से नियंत्रक एवं लेखा महापरीक्षक (कैग) से उनके खातों की जांच कराई जाएगी। ऐसी बिजली कंपनियां, जो लेखा परीक्षा में सहयोग नहीं करेंगी उनके लाइसेंस रद्द किए जाएंगे। अभिभाषण में कहा गया है कि सरकार न मूकदर्शक बनी रह सकती है और न रहेगी। यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कंपनियों ने वित्तीय मानदंडों का गंभीर उल्लंघन नहीं किया है और यह भी सुनिश्चित किया जायेगा कि वे कभी ऐसा उल्लंघन न कर पाएं।  बिजली की आपूॢत उचित दरों पर उपलब्ध कराने के लिए मीटरों की जांच की जाएगी।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You