अब पुलिस को गच्चा देना हुआ मुश्किल

  • अब पुलिस को गच्चा देना हुआ मुश्किल
You Are HereNational
Monday, January 06, 2014-4:21 PM

नई दिल्ली (महेश चौहान): दिल्ली पुलिस आने वाले दिनों में और ज्यादा हाईटैक होने जा रही है। अब दिल्ली पुलिस 22 हजार पुलिस थानों से सीधे जुड़ जाएगी। बताया जाता है कि यह काम क्राइम एंड क्रिमिनल, ट्रैकिंग, नेटवर्क एंड सिस्टम (सी.सी.टी.एन.एस.)के तहत  संभव होगा। इसके लिए गृह मंत्रालय की देखरेख में काम भी शुरू हो चुका है। इस प्रोजेक्ट का जिम्मा टैक महिन्द्रा  नामक एक कंपनी को सौंपा है।  बताया तो यह भी जा रहा है कि सॉफ्टवेयर को कैसे ऑपरेट किया जाए।

सूत्र बताते हैं कि इसके लिए पुलिसकर्मियों को 2 चरण में ट्रेनिंग दी जाएगी। पहले चरण में कांस्टेबल से लेकर सब-इंस्पेक्टर और दूसरे चरण में इंस्पेक्टर से लेकर ए.सी.पी. स्तर के पुलिस अधिकारी इस ट्रेनिंग का लाभ उठा सकेंगे। सूत्र बतातेे हैं कि प्रोजैक्ट के मद्देनजर दिल्ली के हरेक जिला समेत झड़ौदा, वजीराबाद, राजेन्द्र नगर, कनॉट प्लेस, शास्त्री पार्क  मैट्रो स्टेशन के नजदीक इसके केंद्र बनाए गए हैं।

इस साल यह प्रोजैक्ट पूरी तरह से काम करना शुरू कर देगा। जिसके बाद पहला फायदा यह होगा कि दिल्ली के पुलिस स्टेशनों में आने वाले रोजनामचा लिखने के दिन लद जाएंगे। जिससे पुलिस वालों को रोजनामचा लाने ले जाने में लगने वाला घंटो का वक्त बचेगा। बता देें कि इसी काम के लिए भारी मात्रा में पुलिस वाले तैनात हैं। इसके होने के बाद ड्यूटी अफ सर अपने कम्प्यूटर के जरिए सूचनाओं के बारे में थानाध्यक्ष से लेकर संबंधित पुलिस अधिकारियों को अवगत करा देगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You