विपक्ष के हंगामे की भेंट चढ़ी सदन की बैठक

  • विपक्ष के हंगामे की भेंट चढ़ी सदन की बैठक
You Are HereNational
Monday, January 06, 2014-11:53 PM

नई दिल्ली : दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की बैठक उस समय हंगामे की भेंट चढ़ गई जब विपक्षी दल की सदस्या ने भाजपा के विधायक पर आरोप लगाते हुए क्षेत्र में लगे बोर्डों से पार्षद का नाम मिटाने का मुद्दा उठाया।

सदन की बैठक में शॉर्ट नोटिस पर चल रही चर्चा के दौरान बीच में यह विषय उठाए जाने पर सत्तापक्ष ने ऐतराज जताया। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष भी अपने साथ हो रहे इस दुव्र्यव्हार को लेकर चर्चा चाही। दोनों पक्षों के अड़ जाने पर सदन का माहौल गर्मा गया और एक-दूसरे के खिलाफ नारेबाजी शुरू हो गई।

हंगामें को देख बिना किसी चर्चा के ही सदन की बैठक को स्थगित करना पड़ा। बैठक में शॉर्ट नोटिस को लेकर विपक्षी दल कांग्रेस की ओर से अमृता धवन ने साफ-सफाई और अन्य मुद्दों को लेकर अपना पक्ष रखा। जब धवन अपनी बात रख रही थी तब पूरा सदन सुन रहा था।

धवन के अपनी बात समाप्त करते ही कांग्रेस की पार्षद कैप्टन ने र्शाट नोटिस चर्चा के दौरान बोर्ड का मुद्दा उठा दिया। पार्षद का कहना था कि यह बहुत गंभीर मुद्दा है इस बार वे चर्चा चाहती है। लेकिन सत्तापक्ष इस विषय को लेकर चर्चा करने को तैयार नहीं था।

सत्तापक्ष का कहना था कि नियम के तहत शॉर्ट नोटिस चर्चा के दौरान कोई दूसरा विषय नहीं लिया जा सकता है। इस विषय को शॉर्ट नोटिस चर्चा के बाद लिया जाएगा।  सदन के नेता सुभाष आर्य का कहना है कि सदन की परंपरा रही है कि शॉर्ट नोटिस के दौरान किसी अन्य विषय पर चर्चा नहीं की जा सकती।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You