3 लाख तक आयकर छूट की तैयारी

  • 3 लाख तक आयकर छूट की तैयारी
You Are HereNcr
Tuesday, January 07, 2014-1:21 PM

नई दिल्ली (अजीत के. सिंह): लोकसभा चुनाव में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिए कांग्रेस नीत यू.पी.ए. सरकार वोटरों को बड़ी राहत देने की योजना बना रही है। वित्त मंत्रालय के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार करदाताओं को राहत देने के लिए डायरेक्ट टैक्स कोड (डी.टी.सी.) में कई तरह के प्रावधान किए जा सकते हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कर छूट की सीमा को वर्तमान के 2 लाख रुपए से बढ़ा कर 3 लाख रुपए किया जा सकता है। नए प्रावधान के अनुसार महंगाई को देखते हुए पूरे टैक्स स्लैब में भारी बदलाव किया जा सकता है। आयकर में इस राहत के बाद 3 से 6 लाख तक की सालाना आया वालों को 10 फीसदी कर देना होगा, जबकि सालाना 6 से 11 लाख रुपए की आय वालों को 20 फीसदी का कर देना होगा।

जिनकी सालाना आय 11 लाख रुपए से अधिक होगी उन्हें 30 फीसदी का कर देना होगा। हालांकि इसमें एक चौथा स्लैब भी जोड़ा जा सकता है। इसके अनुसार जिन लोगों की सालाना आया 10 करोड़ रुपए से अधिक होगी उन्हें 35 फीसदी कर देना पड़ सकता है। नए प्रावधान के अनुसार सिक्योरिटी ट्रांजैक्शन टैक्स को खत्म कर दिया जाएगा।

सूत्रों का यह भी कहना है किबजट सत्र में डी.टी.सी. बिल को संसद में पेश कर दिया जाएगा। हालांकि इस बिल को अभी कैबिनेट से मंजूरी मिलनी बाकी है। इस बिल में डिविडैंट से प्राप्त होने वाली आय पर भी कर लगाया जा सकता है। सालाना 1 करोड़ रुपए से ज्यादा के डिविडैंट पर 10 फीसदी का कर देना पड़ सकता है। अभी 2 लाख रुपए तक  की सालाना आय कर मुक्त है। वहीं 2 से 5 लाख रुपए तक की आय पर 20 फीसदी और इससे ज्यादा की आय पर 30 फीसदी कर देना होता है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You