अब विदेश में भी महकेगा मध्यप्रदेश का बासमती

  • अब विदेश में भी महकेगा मध्यप्रदेश का बासमती
You Are HereNational
Tuesday, January 07, 2014-2:09 PM

भोपाल: मध्यप्रदेश में पैदा होने वाला बासमती चावल अब विदेश में भी महक सकेगा। सरकार ने मध्यप्रदेश को विदेशों में चावल निर्यात करने की मंजूरी दे दी है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार उत्पाद की भौगोलिक सीमा तय करने वाली राष्ट्रीय संस्था जियोग्राफिकल इंडिकेशन रजिस्ट्रेशन (जीआईआर) ने कृषि उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) के मध्यप्रदेश को बासमती उत्पादन करने वाले राज्यों से अलग रखने संबंधी आदेश को खारिज करने के साथ मध्यप्रदेश भी अब विदेशों में बासमती चावल निर्यात कर सकेगा।

 

सूत्रों के अनुसार जहां किसान अब विदेशों में बासमती चावल निर्यात कर सकेंगे वहीं प्रदेश के 14 बासमती उत्पादक जिलों के करीब चार लाख किसानों को चावल के सही दाम भी मिलेंगे। उन्होंने बताया कि इस निर्णय से निर्यातकों की संख्या बढेगी और चावल प्रसंस्करण इकाई लगाने के लिए उद्योगपति प्रदेश की ओर आकर्षित होंगे।

 

वर्तमान में ही लगभग एक दर्जन मिलिंग प्लांट स्थापित करने के आवेदन उद्योग विभाग के समक्ष लंबित हैं। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में लगभग छह लाख टन बासमती चावल का उत्पादन होता है और प्रदेश के किसानों को विदेश में चावल निर्यात करने की अनुमति नहीं होने से कुल उत्पादन का लगभग 40 प्रतिशत उत्तर प्रदेश के व्यापारी खरीदकर विदेशों को निर्यात करते थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You